अंतिम मुलाकात जब करनी हो बता देना, तिहाड़ प्रशासन ने निर्भया के दोषियों को सुनाया फरमान


नई दिल्ली . निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस से सभी 4 दोषियों को तिहाड़ जेल प्रशासन ने लिखित तौर पर सूचना दे दी है कि वे अपने परिजनों से जब अंतिम मुलाकात करना चाहते हों, जेल प्रशासन को बता दें. नए आदेश में यह भी बताया गया है कि मुकेश और पवन अंतिम मुलाकात कर चुके हैं. अक्षय और विनय से भी परिजनों से अंतिम मुलाकात के लिए कहा जा चुका है.

साप्ताहिक मुलाकात चारों की अभी जारी है. निर्भया के चारों दोषियों को 3 मार्च सुबह छह बजे फांसी दी जाएगी. पटियाला हाउस कोर्ट ने 17 फरवरी को नया डेथ वारंट जारी किए जाने की मांग वाली याचिका पर यह फैसला दिया था. निर्भया के दोषियों की फांसी लगातार कानूनी-दांवपेच की वजह से टलती जा रही है.

  पहली बार मोदी केंद्रीय कैबिनेट की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से होगी

निर्भया गैंगरेप केस के 4 दोषियों मुकेश कुमार सिंह, विनय कुमार शर्मा, अक्षय और पवन गुप्ता को फांसी होनी है. चार में तीन दोषी मुकेश, विनय और अक्षय फांसी के बचने के लिए राष्ट्रपति के सामने दया याचिका लगा चुके हैं, जो खारिज हो चुकी है. ऐसे में तीनों की फांसी का रास्ता साफ हो गया है, उनके पास अब कोई विकल्प नहीं बचा है. जबकि चौथे दोषी पवन गुप्ता ने अब तक न तो सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेविट पिटीशन लगाई है और न राष्ट्रपति से दया की गुहार की है. पवन गुप्ता अगर अपने विकल्पों का इस्तेमाल करता है तो 3 मार्च की फांसी भी टल सकती है.

  24 घंटों में वडोदरा में कोरोना से दूसरी मौत, गोधरा के वृद्ध ने देर रात दम तोड़ा

पवन की तरफ से फांसी के दिन से ठीक पहले यानी 29 फरवरी के बाद क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल की जाती है, तो सुनवाई में समय लगने के कारण 3 मार्च की सुबह फांसी टल सकती है. इसके अलावा पवन के पास एक विकल्प यह भी है कि वह राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाए और जब तक राष्ट्रपति की ओर से इस संबंध में कोई फैसला लिया जाए, उस कारण भी देरी हो सकती है.

  सिंधिया ने उठाया स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा का मुद्दा

पटियाला हाउस कोर्ट ने 17 फरवरी को जो तीसरा डेथ वारंट जारी किया, उसका आधार भी यही बना. कोर्ट के सामने दलील दी गई कि किसी भी दोषी की कोई भी याचिका कहीं भी पेंडिंग नहीं है, लिहाजा डेथ वारंट जारी किया जाए.

Check Also

क्वारनटीन सेंटर से निकलकर गेहूं पिसवाने पंहुचा युवक तो पुलिस ने पीटा, किया सुसाइड

लखीमपुर. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के फरिया पिपरिया गांव से एक सनसनीखेज मामला …