अफगानिस्तान के हिंदू कुश इलाके भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए

काबुल. अफगानिस्तान में शुक्रवार (Friday) को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं. ये झटके हिंदू कुश इलाके में दोपहर 3 बजकर 40 मिनट पर महसूस हुए. भूकंप की तीव्रता 5.2 रही. नेशनल सेंटर ऑफ सिस्मोलॉजी ने इसकी जानकारी दी. पृथ्वी की बाह्य परत में अचानक हलचल से उत्पन्न ऊर्जा के परिणाम स्वरूप भूकंप के आने की संभावना बढ़ जाती है.

  जर्मनी के जासूस ने चेताया, चीन तेजी से विश्व वर्चस्व के करीब पहुंच रहा

यह ऊर्जा पृथ्वी की सतह पर ही भूकंप की तरंगें पैदा करती हैं, जो भूमि को हिलाकर या अलग करके प्रकट होती है. भूकंप की आने की यह मुख्य वजह होती है. भूकंप का रिकार्ड एक सीस्मोमीटर के साथ रखा जाता है, जिसे सीस्मोग्राफ भी कहा जाता है. भूकंप का क्षण परिमाण पारंपरिक रूप से मापा जाता है इसके अलावा अप्रचलित रिक्टर परिमाण लिया जाता है. 3 या कम परिमाण की रिक्टर तीव्रता का भूकंप अक्सर इम्परसेप्टीबल कहलता है और 7 रिक्टर की तीव्रता का भूकंप बड़े क्षेत्रों में गंभीर नुकसान का कारण होता है.इन भूकंप झटकों की तीव्रता का मापन विकसित मरकैली पैमाने पर की जाती है.

  कोविड-19 से हुई करीब 15 प्रतिशत मौतों का संबंध वायु प्रदूषण वाले माहौल से

Check Also

समुद्र में एक बोट के डूबने से तीन मरे, ब्रिटेन प्रधानमंत्री ने कहा-होगी सख्त कार्रवाई

-बोरिस जॉनसन बोले, असुरक्षित यात्रा को बढ़ावा देने वालों पर सख्ती की खाते हैं कसम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *