अभिभावक बच्‍चों को स्‍कूल भेजने को तैयार नहीं

नई दिल्‍ली . कई राज्य 21 सितंबर से स्कूल खोलने की तैयारी कर रहे हैं. Unlock 4.0 की गाइडलाइंस में 10वीं और 12वीं के छात्रों के स्कूल खोलने की अनुमति दी गई थी लेकिन उसमें कहा गया था कि इसमें अभिभावकों की अनुमति होनी चाहिए. लेकिन अभिभावक इसके पक्ष में नहीं हैं.

students-schools

अभिभावक जब लिखकर देंगे तभी बच्चा स्कूल जा सकता है. केंद्र सरकार ने शिक्षा निदेशालय से एक फॉर्म के जरिए इस मामले में अभिभावकों की राय जानने की सलाह दी थी. गूगल फॉर्म में ज्यादातर अभिवावकों ने अपने बच्चों को स्कूल भेजने से मना कर दिया है.

  ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम इंडिया का ऐलान

राजधानी दिल्ली के द्वारका स्थिति बाल भारती स्कूल में 65% माता-पिता अपने बच्चों को स्कूल भेजने के खिलाफ थे, 15% अनिश्चित थे और इसके साथ सिर्फ 15% की इससे सहमत थे. नौवीं से बारहवीं कक्षा के छात्रों के 75% माता-पिता ने कहा कि वे अपने बच्चों को स्कूलों में नहीं भेजना चाहते हैं. उनकी अरुचि इतनी अधिक है कि एक निजी स्कूल में 400 छात्रों की कक्षा में से सिर्फ 25 छात्रों के माता-पिता स्कूल भेजने के पक्ष में दिखे.

  देश के पर्यटन मानचित्र पर तेजी से ऊभर रहा छत्तीसगढ़

ऑनलाइन्स पोल्स में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला. हमने एक सवाल पूछा था और उसमें लोगों की राय मांगी थी. बहुत से लोगों ने इस पोल में हिस्सा लिया और अपनी राय रखी. सवाल पूछा गया था कि क्या आप 21 सितंबर से अपने बच्चों को स्कूल भेजेंगे? इसके जवाब पर 72 फीसदी लोगों ने नहीं कहा. जबकि पांच फीसदी लोगों का कहना था कि कह नहीं सकते और 23 फीसदी लोगों ने कहा कि वो स्कूल भेजने के लिए तैयार है.

  पर्यटन, क्षेत्र के अंतर्राष्ट्रीय संपर्क और अर्थव्यवस्था में आएगा बड़ा बदलाव: मंत्री गडकरी

Check Also

थर-थर कांप रहे थे जनरल बाजवा के पैर

अयाज सादिक के बयान पर पाकिस्तान में जमकर हंगामा नई दिल्‍ली . पाकिस्तान में पीएमएल-एन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *