आईआईटी दिल्ली की पहल, कोविड-19 पर रिसर्च के लिए उपलब्ध होगा सुपर कंप्यूटर


नई दिल्ली (New Delhi) . इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) दिल्ली उन छात्रों के लिए सुपर कंप्यूटर प्रदान कर रहा है जो कोरोना (Corona virus) से लड़ने के लिए शोध कर रहे हैं. सुपर कंप्यूटर की मदद से दवाइयों की खोज, कई अन्य शोध हो सकते हैं. इसकी मदद से कई बड़ी कैलकुलेशन बहुत तेजी से हो जाती है. संस्थान ने कोविड-19 (Kovid-19) रिसर्च के लिए अपने सुपर कंप्यूटर पदुम का उपयोग करने के लिए सरकार, निजी शैक्षणिक संस्थानों और निजी कंपनियों से प्रस्ताव आमंत्रित किए हैं.

  भारत में श्रम कानूनों में बदलाव पर अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन ने आपत्ति जताई

इसके लिए योग्यता आधारित प्रस्ताव को सुपर कंप्यूटर संसाधन 3 महीने के लिए आवंटित किया जाएगा प्रत्येक प्रस्ताव को अधिकतम 10 लाख रु की क्षमता मिलेगी. इसके बाद में परियोजनाओं के प्रदर्शन की अवधि को 6 महीने तक बढ़ाया जा सकता है, इच्छुक उम्मीदवार 15 अप्रैल तक अपने शोध प्रस्ताव प्रस्तुत कर सकते हैं. प्रस्तावों के प्रस्तुत करने के बाद, आईआईटी दिल्ली के विशेषज्ञ “फर्स्ट-कम-फर्स्ट-सर्वे ” के आधार पर होगा उनका मूल्यांकन करेंगे.

  गरीब और किसानों को राहत पहुंचाने के विकल्प मोदी सरकार की ओर से खुले हैं: सूत्र

प्रस्ताव के चयन के बाद, आईआईटी-दिल्ली उन्हें बुनियादी और समर्थन प्रदान करेगा.आईआईटी दिल्ली के निदेशक, वी रामगोपाल राव ने कहा, “इन कठिन समय में, कोरोना महामारी पर काम कर रहे शोधकर्ताओं की बुनियादी सुविधाओं की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए संसाधनों का मैनेज करना जरूरी है. स्थिति की तात्कालिकता को देखते हुए वैज्ञानिकों को एक-दूसरे के साथ सहयोग करना महत्वपूर्ण है.

  हरियाणा ने दिल्ली सीमा को पूरी तरह सील करने के आदेश दिए

Check Also

सबसे गर्म साल हो सकता है 2020, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी

नई दिल्ली (New Delhi). वैज्ञानिकों के एक अंतरराष्ट्रीय समूह ने चेतावनी दी है कि जलवायु …