आईपीओ के आने से पहले ओला में उठापटक का दौर

मुंबई (Mumbai) . मोबिलिटी प्लेटफॉर्म ओला में आईपीओ से पहले काफी उठापटक हो रही है. कंपनी के 2 टॉप एग्जीक्यूटिव ने इस्तीफा दे दिया है. बेंगलूरु की कंपनी अगले साल की शुरुआत में आईपीओ लाने जा रही है. लेकिन इससे पहले पिछले एक हफ्ते में कंपनी के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर गौरव पोरवाल और चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर स्वयं सौरभ इस्तीफा दे चुके हैं. ओला के को फाउंडर और सीईओ भाविश अग्रवाल ने कंपनी के कर्मचारियों को भेज इंटरनल ईमेल में इन अधिकारियों की इस्तीफे को रिस्ट्रक्चरिंग का हिस्सा बताया है. अग्रवाल ने कहा कि हम ओला में अगले चरण की ग्रोथ में जा रहे हैं और इसलिए अपने ऑर्गनाइजेशन में कुछ अहम अपडेट कर रहे हैं. इससे हमें आगे आने वाले अवसरों को भुनाने में मदद मिलेगी.

अग्रवाल ने कहा गौरव पिछले साल से मोबिलिटी बिजनस चला रहे थे और उन्होंने चुनौतीपूर्ण समय में मजबूत नींव रखी है. वह ओला छोड़कर जा रहे हैं. पोरवाल 2019 में ओला से जुड़े थे. इस दौरान उन्होंने कंपनी में कई जिम्मेदारियां निभाईं.इसमें ओला डिलिवरी और ओला फूड्स शामिल है. पिछले साल नवंबर में उन्हें कंपनी का सीओओ बनाया गया था. सौरभ अप्रैल में कंपनी के सीएफओ बने थे. उन्हें फाइनेंस में 2 दशक से भी अधिक समय का अनुभव है. इससे पहले वह हिंदुस्तान जिंक और फिलिप्स में सीएफओ रह चुके हैं. साथ ही उन्होंने कुछ समय एशियन पेंट्स और एलएंडटी में भी काम किया. ओला अगले साल की शुरुआत में आईपीओ ला सकती है. इसके जरिए कंपनी 1.5 से 2 अरब डॉलर (Dollar) जुटा सकती है.
 

 

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *