इस बार वन्यजीव गणना बुद्घ पूर्णिमा पर नहीं, अगली पूर्णिमा को होगी

चित्तौड़गढ़. जिले के वन क्षेत्र सहित तीनों सेंचुरी में इस साल की वन्यजीव गणना 29 मई को होगी. पहले ये गणना 30 अप्रैल से एक मई यानी बुद्ध पूर्णिमा पर होनी थी. जंगलों के प्राकृतिक जल स्रोतों में पानी की उपलब्धता देखते हुए वन विभाग ने उदयपुर (Udaipur) संभाग में वन्यजीव गणना को एक माह के लिए टाल दिया है.

पूरे प्रदेश में वन्यजीव गणना के लिए बरसों से वैशाख मास की पूर्णिमा का दिन तय है. इस लिहाज से इस बार यह गणना 30 अप्रैल को होनी थी. जिले के बस्सी, सीतामाता और भैंसरोडगढ़ अभयारण्यों सहित अन्य वन क्षेत्र में भी वन्यजीव गणना 29 मई को होगी. सीसीएफ वाइल्ड लाइफ राहुल भटनागर द्वारा जारी परिपत्र के अनुसार गणना 30 अप्रैल को ही करवाने का विचार था, लेकिन अब इसे 29 व 30 मई को रखने का निर्णय हुआ. कारण, अजंगल के जलस्रोतों में पानी है. ऐसे में वाटर होल पर वन्यजीवों के आने की उम्मीद कम है.

इसलिए बुद्ध पूर्णिमा पर होती है वन्यजीव गणना… हर साल वैशाख पूर्णिमा (बुद्ध पूर्णिमा) पर वन्यजीव गणना इसलिए की जाती है क्योंकि इस दिन चांद की रोशनी अत्यधिक होती है. इधर, तेज गर्मी में पानी के लिए व्याकुल वन्यजीव भी जलस्स्रोतों पर आते हैं. इससे गणना आसान रहती है. जिले में 29 मई को वन्यजीव गणना शाम छह बजे से शुरू होगी. जो अगले दिन 30 मई सुबह आठ बजे तक चलेगी. गणना में शामिल होने के इच्छुक स्वयंसेवक व वन्यजीव प्रेमी रेंजर से संपर्क कर सकते हैं. प्रत्येक वाटर होल पर एक वॉलिंटियर और एक वन कर्मचारी तैनात रहेगा.

The post इस बार वन्यजीव गणना बुद्घ पूर्णिमा पर नहीं, अगली पूर्णिमा को होगी appeared first on .

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *