ईएमआई टालने वाले कॉल या मैसेज से रहें सावधान!

नई दिल्ली (New Delhi) . देशभर में कोरोना की महामारी और लॉकडाउन (Lockdown) में भी ऑनलाइन ठगी करने वाले अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे. अब उन्होंने ठगी का नया तरीका ढूंढ़ लिया है. अब वे लोन की ईएमआई टालने के लिए कॉल कर मैसेज भेजकर लोगों को चूना लगा रहे हैं. बैंकों ने ऐसे कॉल या मैसेज के प्रति अपने ग्राहकों को आगाह किया है. इस तरह के साइबर ठग बैंक (Bank) प्रतिनिधि के रूप में फोन कर लोगों को यह झांसा देते हैं कि उनकी ईएमआई तीन महीने तक माफ की जा रही है. इसके बाद वे एक ओटीपी साझा करने को कहते हैं. अगर किसी ने भूलवश ओटीपी साझा कर दी तो उसके खाते से सारी रकम निकाल ली जाती है.अब बैंक (Bank) अपने ग्राहकों को मेल, ट्वीट या मैसेज के माध्यम से ऐसी ठगी के प्रति सचेत रहने की चेतावनी दे रहे हैं.

  उत्तराखंड ने बोर्ड एग्जाम के लिए केंद्र से मांगे 1 करोड़

भारतीय स्टेट बैंक (Bank) ने ट्वीट कर चेतावनी दी है, ‘साइबर ठगों ने लोगों से ठगी करने का नया तरीका ढूंढ लिया है. इन साइबर ठगों से बचने का एकमात्र तरीका सावधान और जागरूक रहना है. कृपया इस बात को समझ लें कि ईएमआई को टालने के लिए ओटीपी नंबर की जरूरत नहीं पड़ती है. अपना ओटीपी किसी से भी शेयर नहीं करें. अपने लोन की ईएमआई को टालने के लिए बैंक (Bank) की वेबसाइट https://banksbi/stopemi पर संपर्क करें.

  श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों में श्रमिकों की मौत की संख्या नहीं हैं रेलवे के पास

Check Also

भारत का भविष्य कोई आपदा तय नहीं कर सकती: पीएम नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली (New Delhi). एक साल पहले भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में एक नया स्वर्णिम …