उत्पादन कटौती समझौते की उम्मीद से कच्चे तेल में बढ़ोतरी

सिंगापुर . रूस के उत्पादन में कटौती के संकेत देने के बाद कच्चे तेल की कीमतों में गुरुवार (Thursday) को तेजी देखने को मिली.रूस ने कहा है कि वह ऊर्जा बाजार में तेजी लाने के लिए प्रमुख उत्पादक देशों की बैठक से पहले उत्पादन में कटौती के लिए तैयार है. इस दौरान अमेरिकी मानक वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट 4.6 प्रतिशत बढ़कर 26.26 डॉलर (Dollar) प्रति बैरल हो गया, जबकि अंतरराष्ट्रीय मानक ब्रेंट क्रूड 2.7 प्रतिशत चढ़कर 33.73 डॉलर (Dollar) पर पहुंच गया. शीर्ष उत्पादक सऊदी अरब, और रूस सहित अन्य तेल निर्यात देशों के संगठन ओपेक की बैठक गुरुवार (Thursday) को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए होगी और इस दौरान उत्पादन कटौती पर सहमति बनने की उम्मीद है.

  रविशंकर प्रसाद बोले- एनपीआर अपडेट होता तो आज प्रवासी श्रमिक परेशान नहीं होते

कोरोना (Corona virus) महामारी के चलते दुनिया भर में यात्रा प्रतिबंधों और लॉकडाउन (Lockdown) के चलते कच्चे तेल की मांग घटी है और इसके साथ ही रियाद तथा मास्को के बीच कीमत युद्ध शुरू हो जाने के कारण तेल कीमतें करीब दो दशख के निचले स्तर पर जा पहुंची हैं. हालांकि अब सउदी अरब और रूस के बीच बाजार को स्थिरता देने के लिए एक समझौता होने की उम्मीद जताई जा रही है. ब्लूमबर्ग न्यूज के मुताबिक रूस ने बुधवार (Wednesday) को कहा कि वह उत्पादन में प्रतिदिन लगभग 16 लाख बैरल या करीब 15 प्रतिशत की कटौती करने के लिए तैयार है, जिसके बाद कच्चे तेल की कीमतों में तेजी आई.

  टिड्डियों के संभावित हमले की आशंका के मद्देनजर दिल्ली सरकार अलर्ट- गोपाल राय

Check Also

रिलायंस की आलोक कंपनी एक-तिहाई लागत पर कर रही पीपीई किट का उत्पादन

नई ‎दिल्ली. मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी कपड़ा और परिधान इकाई आलोक इंडस्ट्रीज …