एंबुलेंस से एग्जाम देने पहुंची कोरोना संक्रमित युवती, कलेक्टर के दखल के बाद मिली एंट्री


-बीएड में प्रवेश के लिए राजस्थान (Rajasthan) में पीटीईटी 2020 में अलग कमरे में बैठकर दी परीक्षा

दौसा. राजस्थान (Rajasthan) में बीएड में प्रवेश के लिए प्रदेशभर में पीटीईटी परीक्षा 2020 आयोजित की गई. इस दौरान दौसा में भी 80 परीक्षा केंद्रों पर पीटीईटी की परीक्षा ली गई. परीक्षा की दूसरी पारी में एक कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थी जब परीक्षा केंद्र पर पहुंची तो हड़कंप मच गया. दरअसल, छात्रा एंबुलेंस (Ambulances) के जरिये सैंथल मोड़ स्थित आदर्श विद्या मंदिर परीक्षा केंद्र पर पहुंची थी. कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थी होने के कारण एक बार तो परीक्षा केंद्र में उसे प्रवेश नहीं मिला. कलेक्टर (Collector) पीयूष सामरिया ने दखल दिया तो बात बनी.

  भारत अगर दुनिया का विश्वास जीतना चाहता है तो उसे घरेलू मुद्दों को जल्द सुलझाना होगा : थरूर

दरअसल, कोरोना पॉजिटिव को परीक्षा देने से रोके जाने की सूचना कलेक्टर (Collector) पियूष समारिया तक पहुंची थी. जिसके बाद कलेक्टर (Collector) के निर्देश पर कोरोना पॉजिटिव छात्रा को अलग से कक्ष की व्यवस्था हुई और उसने पीटीईटी की परीक्षा दी. परीक्षार्थी को 15 मिनट देरी से प्रवेश मिल सका. हालांकि इसके बाद कोरोनावायरस परीक्षार्थी ने पूरे 3 घंटे तक परीक्षा केंद्र के अंदर एग्जाम दिया और उसके बाद एंबुलेंस (Ambulances) से ही परीक्षार्थी को वापस भिजवा गया. इस दौरान पूरे कमरे को सैनिटाइज किया गया साथ ही कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थी की ओएमआर शीट को भी अलग से पैक करके भिजवाया गया.

  शिक्षा सेतु योजना में 15 नवंबर तक कर सकते है आवेदन

Check Also

मैदान में खेलने से सेहतमंद रहते हैं बच्चे

यदि आपका बच्चा खुले मैदान पर फुटबॉल या अन्य कोई भी खेल खेलता है तो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *