एकल महिला को 50 लाख व समूह रूप में मिलेगा 1 करोड़ का ऋण


उदयपुर (Udaipur). राज्य सरकार (Government) की ओर से महिलाओं एवं स्वयं सहायता को आर्थिक रूप से संबल प्रदान करने के लिए शुरू की इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के तहत महिलाओं को ऋण सुविधा मिलेगी. महिला अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक ने बताया कि रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में संचालित इस योजना के तहत एकल महिला को 50 लाख व समूह रूप में 1 करोड़ का ऋण मुहैया कराया जाएगा. बैंकों के माध्यम से महिलाओं को विनिर्माण, सेवा, एवं व्यापार आधारित उद्यम के लिए ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा.

  शरद पूर्णिमा का है विशेष महत्व, किस प्रकार करें पूजा

प्रावधान

योजना के तहत ऋण राशि का उपयोग उसी कार्य के लिए किया जा सकेगा, जिसके लिए ऋण स्वीकृत किया गया. ऋण अनुदान की अधिकतम सीमा 15 लाख होगी. भूमि भवन का मूल्य परियोजना प्रस्ताव में शामिल नहीं होगा. व्यापार ऋण की अधिकतम सीमा 10 लाख रूपए होगी. साथ ही अनुसूचित जाति, अनु.जनजाति, विधवा, परित्यक्ता, हिंसा से पीडि़त तथा दिव्यांग श्रेणी की महिलाओं के प्रकरण में ऋण अनुदान स्वीकृत ऋण राशि का 30 प्रतिशत होगा.

  शराब पीने के मामले में असम की महिलाएं अव्वल, तंबाकू के सेवन में बंगाल सबसे ऊपर

ऑनलाइन होगी प्रकिया

उन्होंने बताया कि महिला आवेदक की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होना चाहिए. महिला स्वंय सहायता समूह या इन समूहों (क्लस्टर-फेडरेशन) का राज्य सरकार (Government) के किसी विभाग में दर्ज होना अनिवार्य होगा. महिला या समूह को एस.एस.ओ आई.डी के माध्यम से आवेदन करना होगा.

Check Also

Airtel का सब्सक्राइबर बेस हुआ 15.27 करोड़, कंपनी ने जोड़े 1.44 करोड़ नए यूजर्स

नई दिल्ली (New Delhi). टेलिकॉम टॉक की रिपोर्ट के मुताबिक, भारती एयरटेल कंपनी का 4जी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *