एक साल से केलुपोश मकान में अपने वेतन से किराया दे प्रधानाचार्य चला रही स्कूल व आंगनबाड़ी

मंगलवाड़. नेगडीया पंचायत के लक्ष्मीपुरा गांव में स्कूल भवन जर्जर होने से करीब एक वर्ष से केलुपोश मकान में स्कूल व आंगनबाड़ी का संचालन हो रहा है. स्कूल भवन पूरी तरह जर्जर होकर एक कमरे का बीम भी नीचे झुक गया है, जिससे हादसे की आशंका बनी रहती है.

प्रधानाचार्य निर्मला पण्डया ने बताया की विद्यालय भवन मे बारिश के दिनों दिनो में पानी टपकता है और भवन के गिरने की आशंका से गत वर्ष 21 जुलाई को भवन खाली कर पास ही बने रूपलाल लोहार के केलुपोश मकान में बच्चों का पढ़ाना मजबूरी बन गया. इस केलुपोश मकान में भी तेज बारिश के दौरान पानी भर जाने से स्कूल की छुट्‌टी करनी पड़ती है. इस संबंध में कई बार अधिकारियों को अवगत कराया गया, लेकिन किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया.

इधर, आंगनवाडी कार्यकर्ता लीला खटीक ने बताया की आंगनवाडी में 10 बच्चे आते हैं, लेकिन भवन नही होने से केलुपोश मकान में ही संचालन किया जा रहा है. प्रधानाचार्य पण्डया ने बताया कि केलुपोश मकान का किराया 250 रुपए प्रतिमाह अपने वेतन से देना पड़ रहा है. विद्यालय में 29 बच्चे अध्ययनरत हैं. केलुपोश मकान में ब्लेक बोर्ड नहीं होने से दीवार पर लिख कर बच्चों को पढाना पड रहा है.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *