Sunday , 22 September 2019
Breaking News

कमल नाथ की नीतियों से राज्‍य में मंदी बेअसर

भोपाल . प्रदेश में बीजेपी के घंटानाद आंदोलन का कांग्रेस ने जवाब दिया और जिला मुख्यालयों पर संवाददाता सम्मेलन बुलाकर केंद्र सरकार की तुलना नीरो से कर डाली. इसके साथ ही देश में छाई मंदी का असर मुख्यमंत्री कमल नाथ की नीतियों के कारण राज्य पर नजर न आने का दावा किया.

shobha-ojha

कांग्रेस प्रवक्ताओं ने कहा,‘देश इस समय भयानक मंदी के दौर से गुजर रहा है. पेट्रोल-डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं, रुपये की कीमत रसातल में पहुंच चुकी है, जीडीपी धराशाई हो चुकी है. मैन्युफैक्चरिंग, बैंकिंग, रियल स्टेट, ऑटोमोबाइल सेक्टर पूरी तरह ध्वस्त हो चुके हैं, सार्वजनिक सेक्टर खस्ताहाल है और बढ़ती बेरोजगारी से देश में कोहराम मचा हुआ है. केंद्र सरकार की इन घोर विफलताओं के कारण देश की अर्थव्यवस्था के हालात बुरी स्थिति में पहुंच गए हैं.’

यह भी पढ़िए   रामबन जिले के बैटरी चश्मा के पास भूस्खलन की चपेट में आए दो वाहन, बाल-बाल बचे यात्री

कांग्रेस की मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा, इंदौर में मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष अभय दुबे, छिंदवाड़ा में भूपेंद्र गुप्ता, ग्वालियर में प्रदेश प्रवक्ता दुर्गेश शर्मा सहित जिला मुख्यालयों पर नेताओं ने संवाददाता सम्मेलनों को संबोधित किया. कांग्रेस प्रवक्ताओं ने दावा किया कि ‘केंद्र सरकार की नीतियों के कारण देश में मंदी छाई हुई है, लेकिन मध्य प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के फैसलों, नीतियों के कारण उस मंदी का असर राज्य में नजर नहीं आ रहा है.



उन्‍होंने कहा कि बीजेपी जब सत्ता से गई थी तब खजाना खाली था. इस खाली खजाने के बाद भी मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मजबूत इच्छाशक्ति का परिचय देते हुए, अपने शपथ-ग्रहण के दो घंटे के भीतर ही किसानों की कर्जमाफी की फाइल पर दस्तखत कर दिए और कांग्रेस पार्टी द्वारा दिए गए वचनों को पूरा किया जा रहा है.’

यह भी पढ़िए   नियोजित शिक्षकों का चरणबद्ध आंदोलन शुरू, शिक्षक दिवस का करेंगे बहिष्कार

कांग्रेस नेताओं ने राज्य में कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा आठ माह में कराए गए कार्यों का ब्यौरा दिया. उन्होंने किसान, बेरोजगार, सरकारी कर्मचारी, आदिवासियों सहित अन्य वर्गों के हित में लिए गए निर्णयों का जिक्र करते हुए विकास कार्यों और निवेश की दिशा में जारी प्रयासों का सिलसिलेवार लेखजोखा पेश किया.


Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News