कांग्रेस में करीब 15000 से ज्यादा कार्यकर्ता नियुक्ति में इंतजार में


जयपुर (jaipur). पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष से हटाने के बाद करीब सवा दो महीने निकल चुके है और नए बनाये गए प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा की टीम का गठन अभी तक नहीं हो पाया है जबकि डोटासरा गहलोत सरकार (Government) में शिक्षामंत्री का कार्यभार भी देख रहे है.

पिछले दिनों सत्ता और संगठन में मचे सियासी घमासान में सचिन पायलट को प्रदेशाध्याक्ष से हटाने के बाद प्रदेश, जिला और ब्लॉक की सभी कार्यकारिणी भंग कर दी गई थी 15 जुलाई से लेकर अब तक संगठन में एक भी नियुक्ति नहीं की गई है अनुमान के मुताबिक करीब 15000 से ज्यादा नेता-कार्यकर्ता संगठन में नियुक्ति के इंतजार में हैं 400 ब्लॉक, 39 जिला कार्यकारिणी और प्रदेश कार्यकारिणी का गठन होना बाकी है. हर ब्लॉक कार्यकारिणी में 31 से लेकर 50 नेताओं को और जिला कार्यकारिणी में भी 31 से लेकर 100 नेताओं तक को जगह दी जानी है.

  बिहार के चुनावी संग्राम में उतरे नरेंद्र मोदी

हाल के वर्षों में यह पहला मौका है, जब इतने लंबे अरसे तक केवल प्रदेशाध्यक्ष को छोड़ पार्टी में एक भी पदाधिकारी नहीं है वह भी ऐसे समय में जब पार्टी केंद्र के खिलाफ कृषि विधेयकों के विरोधस्वरूप बड़ा आंदोलन छेड़ चुकी है. इसमें भी पार्टी बिना पदाधिकारियों के ही मैदान में है. पंचायत चुनाव में भी पार्टी बिना पदाधिकारियों के ही क्षेत्र में घूम रही है. इससे पहले जब-जब भी नए प्रदेशाध्यक्ष बने तब तब कुछ पदाधिकारी जरूर रहे है. लेकिन इस बार कांग्रेस के राजनीतिक हालात कुछ अलग थे इसलिए ऊपर से लेकर नीचे तक के सभी संगठनों को भंग कर दिया गया था इसलिए नया रिकॉर्ड बन रहा है. फिलहाल जल्द कार्यकारिणी के गठन के आसार भी कम ही नजर आ रहे है.

  बांसवाड़ा में महिला और उसके 2 बच्चों की गला रेतकर की गई निर्मम हत्या

Check Also

सर्जरी के बाद कपिल देव को अस्पताल से मिली छुट्टी

नई दिल्‍ली . भारत के पहले विश्व कप विजेता क्रिकेट कप्तान कपिल देव की सफल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *