कोरोना काल में आईटी कंपनियां पुराने कर्मचारियों पर डाल रही हैं डोरे


-सोशल मीडिया (Media) प्लेटफॉर्म्स पोस्ट डाल कर दे रहीं फिर से जुड़ने का आफर

पुणे आईटी कंपनियों के क्लाइंट्स ने कॉस्ट कट करने और अपनी टेक्नॉलजीज को अपग्रेड करने के लिए आउटसोर्सिंग की गतिविधियां बढ़ा दी है. पुणे की कंपनी परसिसटेंट सिस्टम्स ने सोशल मीडिया (Media) प्लेटफॉर्म्स पर डाली एक पोस्ट में कंपनी के पुराने कर्मचारियों से कहा गया है कि अगर वे फिर से जॉइन करना चाहते हैं तो संपर्क करें. परसिसटेंट सिस्टम्स ने पोस्ट में कहा कि कंपनी कर्मचारियों की भर्ती कर रही है और क्या आप अपने एलुमनाई स्टेटस को एक्टिव स्टेटस में बदलना चाहते हैं. अभी कंपनी का कामकाज बहुत अच्छा चल रहा है और आप जैसे लोगों के लिए हमारे यहां 600 से अधिक पद खाली हैं. पूर्व कर्मचारियों पर डोरे डाल रही कंपनियों में परसिसटेंट के अलावा माइंडट्री, बिड़लासॉफ्ट और एलटीआई शामिल हैं.

  वैट 40 (ई) प्रपत्र जमा कराने की अंतिम तिथि बढ़ाई

यह नेटवर्क आईटी कंपनियों के लिए बहुत उपयोगी है. पुराने कर्मचारी कंपनी के कामकाज से अच्छी तरह वाकिफ होते हैं और कंपनियां भी उनकी खूबियां अच्छी तरह जानती हैं. उन्हें नए लोगों की तरह ट्रेनिंग देने की जरूरत नहीं पड़ती है. बिड़लासॉफ्ट के अरुण राव ने कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं है कि पुराने कर्मचारियों के साथ रिमोट ऑनबोर्डिंग और काम की रफ्तार बढ़ाना बहुत आसान है. इसकी वजह यह है कि वे कंपनी के कामकाज, स्टाफ और प्रोसेस से अच्छी तरह वाकिफ होते हैं. कंपनियों के लिए पुराने कर्मचारियों को काम पर रखने का मतलब है कि वे तुरंत काम शुरू कर सकते हैं.

  गांव के ही निकले दोनों हत्यारे आरोपी पर पाक्सो एक्ट के तहत होगी कार्यवाही

कर्मचारियों के लिए भी इससे अपने पुराने साथियों के बीच स्वीकार्यता बढ़ जाती है क्योंकि इस दौरान उनके प्रोफाइल में दूसरी कंपनियों का अनुभव जुड़ जाता है. एलटीआई के अजय त्रिपाठी ने कहा, ओपन पोजीशंस के लिए पूर्व कर्मचारी एक अट्रेक्टिव पूल बनाते हैं क्योंकि वे कंपनी के कामकाज से अच्छी तरह वाकिफ होते हैं और उन्हें तालमेल बैठाने में कोई दिक्कत नहीं होती है. पूर्व महिला कर्मचारियों को वापस लाने के लिए कंपनी एक प्रोग्राम रिवाइव विद एलटीआई चलाती है.

  दुमका-बेरमो विधानसभा उपचुनाव के लिए नामांकन पत्रों की जांच

Check Also

आयोग ने कमल नाथ की टिप्पणी पर रिपोर्ट मांगी

भोपाल . चुनाव आयोग ने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की इमरती देवी पर गई टिप्पणी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *