कोरोना के शोध में खुलासा, जिनमें संक्रमण को कोई लक्षण नहीं, वहां भी दूसरों में संक्रमण फैला सकते


लंदन . कोरोना को लेकर एक हैरान करने वाली स्टडी सामने आई है. स्टडी के मुताबिक कोरोना (Corona virus) के उन संक्रमित मरीज, जिनमें संक्रमण को कोई लक्षण नहीं दिख रहा हो,वहां भी दूसरों में संक्रमण फैला सकते हैं. स्टडी के नतीजे खतरनाक हैं.

इस तरह से देख तो कोरोना (Corona virus) के बिना लक्षण वाले मरीजों को खुद को भी संक्रमण के बारे में नहीं पता होता और दूसरों को भी उनसे खतरा महसूस नहीं होता. लेकिन स्टडी कहती है कि कोरोना (Corona virus) के बिना लक्षण वाले संक्रमित मरीज भी उसी तेजी से दूसरों में संक्रमण फैला सकते हैं, जितना वायरस के लक्षण वाले संक्रमित मरीज.

  सर्च ऑपरेशन चलाकर तबलीगी जमात में शामिल लोगों को तलाश रही खुफिया एजेंसियां

एक रिपोर्ट के मुताबिक ये शोध इटली में की गई है. इटली में कोरोना के संक्रमण की वजह से 683 नई मौतें दर्ज की गई है, जबकि सिर्फ बुधवार (Wednesday) को संक्रमण के 7,503 नए मामले सामने आए. इटली में करोना वायरस के संक्रमण के मामले बढ़कर 75 हजार तक पहुंच चुके हैं. इटली के लैमबॉर्डी में ये स्टटी की गई है. लैमबॉर्डी कोरोना (Corona virus) से सबसे बुरी तरह से संक्रमित इलाका है. यहां बिना संक्रमण के लक्षण वाले मरीजों ने भी उतनी ही तेजी से संक्रमण फैलाया, जितना संक्रमण के लक्षण वाले मरीजों ने फैलाया था. इसके पहले चीन के वुहान में इस तरह की स्टडी की गई थी.

  मुख्यमंत्री की अपील पर दूरस्थ कालोनियों तक पहुंच रही है ताजे फल और हरी सब्जियां

वुहान ही चीन का वहां इलाका है, जहां से कोरोना (Corona virus) का संक्रमण पूरी दुनिया में फैला है. वुहान में हुई स्टडी में पता चला कि 60 फीसदी कोरोना (Corona virus) के मरीजों को संक्रमण उस व्यक्ति से हुआ था, जिनमें वायरस संक्रमण के लक्षण दिखाई नहीं दे रहे थे. इटली में करीब 5,830 कोरोना (Corona virus) से संक्रमित मरीजों के रिपोर्ट के आधार पर ये स्टडी की गई है. इस स्टडी को जनवरी 14 से मार्च 8 के बीच अंजाम दिया गया.

  सीएम योगी को तोड़नी पड़ी परम्‍परा, पहली बार रामनवमी पर गोरखनाथ मंदिर में नहीं

Check Also

पैट कमिंस को अभी भी आईपीएल 2020 के होने की उम्मीद

सिडनी . इंडियन प्रीमयर लीग (आईपीएल) के सबसे महंगे खिलाड़ियों में से एक ऑस्ट्रेलिया के …