चमड़ा निर्यातकों को सरकार से तत्काल मदद की जरूरत: सीएलई


नई दिल्ली (New Delhi) . चमड़ा निर्यातक परिषद (सीएलई) ने बड़ी मात्रा में निर्यात ऑर्डर रद्द होने के चलते सरकार (Government) से तत्काल मदद मुहैया कराने का अनुरोध किया है. कोरोना (Corona virus) संकट की वजह से पिछले एक हफ्ते में करीब एक अरब डॉलर (Dollar) (करीब 7,600 करोड़ रुपए) के ऑर्डर रद्द हुए हैं. सीएलई के चेयरमैन अकील अहमद पनरुना ने एक बयान में कहा कि सरकार (Government) को निर्यातकों को तत्काल राहत देनी चाहिए.

  सिंधिया ने उठाया स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा का मुद्दा

90 प्रतिशत से अधिक चमड़ा निर्यातक लघु एवं मध्यम उद्योग के दायरे में आते हैं. ऑर्डर रद्द होने से उनकी बड़ी पूंजी का नुकसान हुआ है. चमड़ा उद्योग देश में करीब 44.2 लाख लोगों को रोजगार उपलब्ध कराता है. उन्होंने कहा इस चुनौतीपूर्ण समय में चमड़ा उद्योग भारी नुकसान झेल रहा है. पनरुना ने कहा ‎कि मुझे चमड़ा, चमड़े के उत्पाद और फुटवियर क्षेत्र के उद्योगों के अस्तित्व को लेकर चिंता है. यदि केंद्र और राज्य सरकारें राहत पैकेज नहीं देती हैं तो इनका अस्तित्व नहीं बचेगा. मौजूदा संकट को समझाते हुए उन्होंने कहा कि इटली, जर्मनी, स्पेन, फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका जैसे प्रमुख बाजारों से लगातार ऑर्डर रद्द हो रहे हैं और यह कुल चमड़ा निर्यात का करीब 65 प्रतिशत है.

  जमात में शामिल 275 विदेशियों की पहचान, क्वारंटीन में भेजा: दिल्ली पुलिस

Check Also

पैट कमिंस को अभी भी आईपीएल 2020 के होने की उम्मीद

सिडनी . इंडियन प्रीमयर लीग (आईपीएल) के सबसे महंगे खिलाड़ियों में से एक ऑस्ट्रेलिया के …