Sunday , 22 September 2019
Breaking News

जगुआर लैण्ड रोवर ने इलेक्ट्रिफिकेशन को गति दी

उदयपुर. जगुआर लैण्ड रोवर ने कैसल ब्रोमविच, यूके स्थित अपने उत्पादन संयंत्र में नये इलेक्ट्रिफाइड वाहनों की श्रृंखला के उत्पादन की योजना का खुलासा किया है. यह घोषणा वर्ष 2020 से सभी नये जगुआर और लैण्ड रोवर मॉडल्स के लिये ग्राहकों हेतु इलेक्ट्रिफाइड विकल्पों की पेशकश की कंपनी की प्रतिबद्धता के निर्वाह की दिशा में अगला महत्वपूर्ण कदम है.

प्रोफेसर डॉ. रैल्फ स्पेथ, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जगुआर लैण्ड रोवर ने कहा कि परिवहन का भविष्य इलेक्ट्रिक है और एक दूरदर्शी ब्रिटिश कंपनी होने के नाते शून्य-उत्सर्जन वाहनों की अगली पीढ़ी को यूके में बनाने के लिये प्रतिबद्ध हैं. हम इलेक्ट्रिक वाहन उत्पादन, इलेक्ट्रॉनिक ड्राइव यूनिट्स और बैटरी असेम्बली को एक जगह ला रहे हैं, ताकि मिडलैण्ड्स में इलेक्ट्रिफिकेशन का पॉवरहाउस बन सके. इस संयंत्र में उत्पादित होने वाली पहली नई इलेक्ट्रिक कार होगी जगुआर की प्रमुख लक्जरी सैलून एक्सजे. एक्सजे विगत पाँच दशकों से व्यावसायिक दिग्गजों, सेलीब्रिटीज, नेताओं और राज परिवारों की पसंद है. इसके उत्पादन के आठ जनरेशन हो चुके हैं और इसका डिजाइन, इंजिनियरिंग तथा उत्पादन यूके में किया जाता है तथा इसे 120 से अधिक देशों में निर्यात किया जाता है.

यह भी पढ़िए   पंजाब की हीरो साइकिल को मिला चीन के फूशीदा ग्रुप का साथ

वर्तमान एक्सजे का उत्पादन समाप्त होने की सूचना कैसल ब्रोमविच के कर्मियों को दी गई थी. विगत 50 वर्षों के दौरान एक्सजे के उत्पादन में कई नवोन्मेष हुए हैं, जो उद्योग के लिये प्रथम हैं और नई एक्सजे में भी अपने पूर्वजों की विशेषताएं होंगी, जैसे सुंदर डिजाइन, विवेकशील पदर्शन और पसंदीदा लक्जरी. नये ऑल-इलेक्ट्रिक मॉडल का निर्माण उन्हीं डिजाइनर्स और उत्पाद विकास विशेषज्ञों की टीम करेगी, जिन्होंने विश्व की पहली प्रीमियम इलेक्ट्रिक एसयूवी और 2019 वल्र्ड कार ऑफ द ईयर- जगुआर आई-पेस दी है.

आज की घोषणा यूके में हजारों नौकरियाँ बचाती है और जगुआर लैण्ड रोवर की इलेक्ट्रिफिकेशन रणनीति के निष्पादन में अगला चरण है. जनवरी में कंपनी ने नई और मौजूदा सुविधाओं में निवेश के साथ बैटरी और इलेक्ट्रिक ड्राइव यूनिट (ईडीयू) को मिडलैण्ड्स में लाने की योजना की पुष्टि की थी. कंपनी द्वारा पूर्व में बताई गई पूंजी निवेश योजनाओं में इन निवेशों की अपेक्षा थी. हैम्स हॉल में स्थित नया बैटरी असेम्बली सेंटर वर्ष 2020 से परिचालन शुरू करेगा और यूके में सबसे खोजपरक तथा प्रौद्योगिकी के लिहाज से उन्नत होगा, जिसकी स्थापित क्षमता 150,000 यूनिट्स की होगी. वोल्वरहैम्पटन इंजन मैन्युफैक्चरिंग सेंटर (ईएमसी) जगुआर लैण्ड रोवर के वैश्विक ईडीयू उत्पादन का केन्द्र है, जिसके साथ मिलकर यह सुविधाएं जगुआर और लैण्ड रोवर के अगली पीढ़ी के मॉडल्स को शक्ति प्रदान करेंगी.

यह भी पढ़िए   एयर एशिया की बिग सेल में बुक करें टिकट और पाएं 90 फीसद तक का डिस्काउंट

कैसल ब्रोमविच यूके का पहला प्रीमियम इलेक्ट्रिफाइड वाहन संयंत्र बनने जा रहा है, जो उसके इतिहास की सबसे महत्वपूर्ण घटना है. इस माह के उत्तराद्र्ध में उन सभी नई सुविधाओं और टेक्नोलॉजीस के इंस्टालेशन का काम शुरू होगा, जो जगुआर लैण्ड रोवर की अगली पीढ़ी के मॉड्यूलर लॉन्गिट्ययूडिनल आर्किटेक्चर (एमएलए) में सहयोग के लिये आवश्यक हैं. एमएलए का डिजाइन और इंजिनियरिंग कंपनी द्वारा ही की गई है और यह स्वच्छ तथा क्षमतावान डीजल तथा पेट्रोल वाहनों के साथ-साथ फुल इलेक्ट्रिक और हाइब्रिड मॉडल्स का लोचशील उत्पादन सुगम बनाता है. जगुआर लैण्ड रोवर की इलेक्ट्रिफाइड वाहन श्रृंखला के विस्तार से ग्राहकों को अपनी जीवनशैली के अनुसार व्यापक विकल्प मिलेंगे. हालांकि ग्राहकों की ब$डी संख्या एक चुनौती होगी.

यह भी पढ़िए   एअर इंडिया का ट्विटर एकाऊंट हैक हुआ!

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News