डेमोक्रेटिक उम्मीदवार बाइडेन के पुत्र हंटर को रूस, चीन से मिली बड़ी धनराशि : ट्रम्प


वाशिंगटन. अमेरिका के प्रथम नागरिक राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने राष्ट्रपति पद के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन के बेटे हंटर पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उसको रूस और चीन से बड़ी धनराशि मिली है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि मुख्यधारा का मीडिया (Media) इसे नहीं दिखा रहा है और इस पर चुप है. ट्रम्प ने व्हाइट हाउस में एक समाचार सम्मेलन में संवाददाताओं से कहा, ‘यह विश्वास करना मुश्किल है, जब आप इस तरह की चीज देखते हैं, उन्हें (हंटर) चीन से, रूस से काफी पैसे मिले हैं जहां मास्को के मेयर की पत्नी ने उन्हें 35 लाख डॉलर (Dollar) दिए हैं और कोई भी व्यक्ति इस पर सवाल खड़ा नहीं कर रहा है.’

  भारत के खिलाफ हमलों की फिराक में पाकिस्तान

पिछले हफ्ते जारी एक सीनेट रिपब्लिकन की रिपोर्ट के अनुसार, 50 वर्षीय बाइडेन के उपराष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल के दौरान, हंटर को मास्को के पूर्व मेयर यूरी लुझकोव की विधवा एलेना बेतुरिना से 35 लाख अमरीकी डॉलर (Dollar) मिले थे. रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि चीनी नागरिकों ने हंटर और बाइडेन परिवार के अन्य सदस्यों को पैसे दिए.

  भारत बार-बार दिखा रहा दरियादिली चीन की शह पर नेपाल भूला मित्रता

ट्रम्प ने कहा कि इस तरह की रिपोर्ट प्रकाशित किये जाने के बावजूद, मुख्यधारा का मीडिया (Media) इस खबर को दबा रहा है और इस पर चुप है. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘उन्हें (हंटर) 35 लाख डॉलर (Dollar) क्यों दिए गए? मैं आपको बताऊंगा क्यों: क्योंकि जो बाइडेन उसमें शामिल थे… कोई रास्ता नहीं बचा है कि वह यह बता पाएं कि उस लेनदेन में शामिल नहीं थे. हंटर जो बाइडेन के विमान- एयर फोर्स टू का इस्तेमाल करता है. वे चीन जाते हैं और फिर वह वापस आते हैं, और क्या उन्होंने अपने पिता को बताया नहीं होगा कि उन्हें डेढ़ अरब डॉलर (Dollar) मिले हैं?’ ट्रम्प ने कहा, ‘और अब यह पता चला है कि उससे कहीं अधिक पैसा मिला है… चीन से बहुत अधिक पैसे मिले हैं.. चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के एक सदस्य ने उन्हें बहुत पैसा दिया. और प्रेस को इन खबरों में कोई दिलचस्पी नहीं है. यह हमारे देश के लोगों के लिए बहुत ही निराशाजनक है.’

  अमेरिका में कोरोना ने तोड़े अब तक के सारे रिकॉर्ड

Check Also

मंदिर की शरण में पहुंचा कोरोना का इलाज ढूंढ रही ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी

नई दिल्ली (New Delhi). ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय ने कोरोना के इलाज से जुड़े एक ट्रायल प्रिंसिपल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *