‘तांडव’ के डायरेक्टर पर फूटा कंगना का गुस्सा, कहा क्या इतने ही आत्मविश्वास से अल्लाह का मजाक उड़ाने की हिम्मत है?

मुंबई (Mumbai) . अमेजन प्राइम पर प्रदर्शित की गई वेब सीरीज ‘तांडव’ का पूरे देश में विरोध हो रहा है. वेब सीरीज तांडव के एक दृश्य को लेकर शुरू हुए विवाद के मामले में इसके निर्माताओं पर एफआईआर (First Information Report) दर्ज की गई हैं, साथ ही उन्हें भारी आलोचना का भी शिकार होना पड़ा है. इस सीरीज में हिंदू देवताओं के चित्रण को लेकर विवाद पैदा हो गया है. विवाद के बाद वेब सिरीज के निर्माताओं ने कहा है कि अगर गैर-इरादतन तरीके से लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं, तो वे बिना शर्त माफी मांगते हैं. बालीवुड क्वीन कंगना रनौत ने सीरीज के निर्माताओं पर सीधा हमला बोलते हुए सवाल किया है कि क्या उनमें अल्लाह का मजाक बनाने की हिम्मत है?

भाजपा नेता कपिल मिश्रा के ट्वीट को शेयर कर कंगना रनौत ने लिखा, माफी मांगने के लिए बचेगा कहां? ये सीधा गला काट देते हैं, जिहादी देश फतवा निकाल देते हैं, लिब्रु मीडिया (Media) वर्चुअल लिंचिंग कर देती है, तुम्हें न सिर्फ़ जान से मार दिया जाएगा, बल्कि उस मौत को भी जस्टिफ़ाई किया जाएगा, बोलो अली अब्बास जफर है हिम्मत अल्लाह का मज़ाक़ उड़ाने की? इससे पहले भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया था, अली अब्बास जफर जी, कभी अपने मजहब पर मूवी बनाकर माफी मांगिए. सारी अभिव्यक्ति की आज़ादी हमारे ही धर्म के साथ क्यों? कभी अपने एकमात्र ईष्ट का भद्दा मजाक उड़ाकर भी शर्मिंदा होइए, आपके अपराधों का हिसाब भारत का कानून करेगा, जहरीला कंटेट वापस लीजिए, तांडव को हटाना ही पड़ेगा.

  राणा दग्गुबाती की फिल्म "हाथी मेरे साथी" का ट्रेलर रिलीज

दरअसल, तांडव के निर्देशक अली अब्बास जफर ने ‘हमारी ओर से गंभीरता के साथ माफी’ कैप्शन के साथ बयान ट्वीट किया और इसे ‘तांडव’ के कास्ट एवं क्रू की ओर से आधिकारिक बयान बताया गया. इसमें कहा गया कि ‘तांडव’ की टीम सीरीज पर दर्शकों की प्रतिक्रियाओं पर करीब से नजर रख रही है. बयान में कहा गया है कि आज एक चर्चा के दौरान सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने हमें बताया कि उन्हें वेब सीरीज के विभिन्न पहलुओं को लेकर बड़ी संख्या में शिकायतें और अर्जियां मिली हैं जो इसकी सामग्री द्वारा लोगों की भावनाओं को आहत करने संबंधी गंभीर चिंताओं और आशंकाओं के बारे में हैं.

  फिल्म ‘हाथी मेरे साथी’ ने पेश किया जंगल अन्थेम ‘शुक्रीया’

इसमें कहा गया है कि इसके निर्माताओं और कलाकारों का किसी व्यक्ति, जाति, समुदाय, धर्म की भावनाओं या धार्मिक आस्थाओं को आहत करने या किसी संस्था, राजनीतिक दल अथवा व्यक्ति (जीवित या मृत) का अपमान करने का कोई इरादा नहीं था. तांडव की पूरी यूनिट लोगों द्वारा जताई गई चिंताओं पर संज्ञान लेती है और यदि इससे गैर-इरादतन तरीके से किसी व्यक्ति की भावनाओं को चोट पहुंची है, तो हम बिना शर्त माफी मांगते हैं.

  तापसी के ट्वीट पर कंगना ने किया रिएक्ट, कहा-तू हमेशा सस्ती ही रहेगी

शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने रविवार (Sunday) को इस विषय पर अमेजन प्राइम वीडियो से स्पष्टीकरण मांगा था. मंत्रालय में एक सूत्र ने कहा था मंत्रालय ने मामले पर संज्ञान लिया है और अमेजन प्राइम वीडियो से स्पष्टीकरण मांगा है. मुंबई (Mumbai) उत्तर-पूर्व से भाजपा सांसद (Member of parliament) मनोज कोटक, मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री विश्वास सारंग तथा राज्य विधानसभा के प्रोटेम अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा समेत कुछ नेताओं ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर से वेब सीरीज पर रोक लगाने की मांग की थी. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ के मीडिया (Media) सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने कहा कि तांडव के निर्माताओं को धार्मिक भावनाएं आहत करने की कीमत चुकानी होगी.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *