Wednesday , 25 November 2020

थर-थर कांप रहे थे जनरल बाजवा के पैर

अयाज सादिक के बयान पर पाकिस्तान में जमकर हंगामा

नई दिल्‍ली . पाकिस्तान में पीएमएल-एन पार्टी के नेता सरदार अयाज सादिक (Sardar Ayaz Sadiq) के भारतीय पायलट अभिनंदन की रिहाई को लेकर दिए गए बयान के बाद हंगामा खड़ा हो गया है. अयाज सादिक ने कहा था कि पाकिस्तान ने भारत के हमले के डर से अभिनंदन की तुरंत रिहाई कर दी थी. अब पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अयाज सादिक के दावे को खारिज कर दिया है. कुरैशी ने कहा कि जिम्मेदार लोग भी ऐसे गैर-जिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं.

ayaz-sadiq

कुरैशी ने कहा कि उन्हें इसकी बिल्कुल उम्मीद नहीं थी कि नेशनल एसेंबली के पूर्व स्पीकर सादिक ये कहेंगे कि अभिनंदन वर्धमान को पाकिस्तान ने भारत के दबाव में छोड़ दिया. कुरैशी ने कहा कि उनका बयान हकीकत के बिल्कुल उलट है.

कुरैशी ने कहा कि इंटेलिजेंस रिपोर्ट को लेकर सरकार ने सभी संसदीय नेताओं को भरोसे में लिया था लेकिन बैठक में अभिनंदन का कोई जिक्र नहीं किया गया था. पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा, राजनीतिक लाभ के लिए बेहद गैर-जिम्मेदाराना बयान जारी किए जा रहे हैं, जिम्मेदार लोग गैर-जिम्मेदार तरीके से बातें कर रहे हैं जो हैरान करने वाला है.

  भाजपा नेता की होटल में चल रहा था जुए का अड्डा, 2 महिला समेत 20 गिरफ्तार

कुरैशी ने विपक्षी दलों को भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले पर उनके रुख को लेकर निशाने पर लिया. कुरैशी ने सलाह दी कि विपक्ष कुलभूषण जाधव को लेकर अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के फैसले को ध्यान से पढ़े और पाकिस्तान के रुख को भी ठीक तरह से समझे.

कुरैशी ने कहा कि कुलभूषण मामले में कोर्ट के आदेश का पालन करने के लिए सरकार अध्यादेश लाई है जिसे लेकर विपक्ष लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है. कुरैशी ने कहा कि वो नहीं चाहते हैं कि भारत को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में पाकिस्तान को घसीटने का एक और मौका मिले. कुरैशी ने कहा, ये लोग कुलभूषण और अभिनंदन मामले पर देश के लोगों को भ्रमित कर रहे हैं.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा कि भारतीय पायलट की रिहाई को जानबूझकर विवादित बनाया जा रहा है और इससे राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश की जा रही है. बता दें कि पाकिस्तान असेंबली के पूर्व स्पीकर अयाज सादिक ने अभिनंदन की रिहाई को लेकर एक बयान में कहा, भारत के हमले की आशंका से उस समय पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा के पैर कांप रहे थे और चेहरे पर पसीना आ रहा था. बाजवा को भारत के हमले का डर सता रहा था.

  2 दिसंबर को पर्दा उठेगा निसान मैगनाइट से -किआ सॉनेट, ह्यूंदै वेन्यू को देगी कडी टक्कर

अयाज सादिक ने कहा, ‘विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी अभिनंदन को लेकर कह रहे थे कि खुदा के वास्ते उसे जाने दें. पाकिस्तान को डर था कि अगर फायटर प्लेन पायलट अभिनंदन को रात 9 बजे तक रिहा नहीं किया गया तो भारत पाकिस्तान पर हमला करेगा. भारत ने पाकिस्तान पर हमला नहीं किया लेकिन पाकिस्तान की सरकार ने अभिनंदन को डरकर भारतीय प्रशासन को जरूर सौंप दिया था.’

पाकिस्तान की सत्तारूढ़ पार्टी पीटीआई के नेता अली मुहम्मद खान ने कहा कि उस वक्त विपक्षी दलों के नेता शहबाज शरीफ, पीपीपी के को-चेयरमैन आसिफ अली जरदारी और जेयूआई-एफ के नेता भी बैठक में मौजूद थे और भारतीय पायलट की रिहाई का समर्थन किया था. पीएमएल-एन नेता ख्वाजा आसिफ ने अभिनंदन की रिहाई को समर्थन देने की बात को कबूल की.

  अमेजान पर मिल रहे सस्ते लेपटाप, एमआई से लेकर असुस तक के मिल रहे लेपटॉप

उन्होंने कहा कि जनरल बाजवा ने बैठक में इस मुद्दे को लेकर ब्रीफ किया था और उम्मीद जाहिर की थी कि भारत अभिनंदन की रिहाई को सकारात्मक रूप से लेगा. आसिफ ने सवाल किया, आपने दोनों देशों के बीच तनाव कम करने के लिए अभिनंदन को तो छोड़ दिया लेकिन मैं पूछना चाहता हूं कि आपने इसमें जो निवेश किया, उसका नतीजा क्या मिला? ख्वाजा आसिफ ने इमरान सरकार पर आरोप लगाया कि वो भारत के तुष्टीकरण की नीति पर चल रही है. उन्होंने कहा कि कश्मीर के लोगों से धोखा करने वाली सरकारों को इतिहास माफ नहीं करेगा.

बता दें कि फरवरी 2019 में भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का मिग-21 विमान क्रैश हो गया था. इस दौरान अभिनंदन पीओके में जा गिरे और पाकिस्तान की सेना ने उन्हें पकड़ लिया था. हालांकि, इसके बाद अभिनंदन की रिहाई के लिए भारत की तरफ से पाकिस्तान पर काफी दबाव बनाया गया. 60 घंटे बाद ही पाकिस्तान ने अभिनंदन को छोड़ दिया था.


Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *