देश में वाहन मांग 20 प्रतिशत से अधिक गिरने का अनुमान, फिच की रिपोर्ट में कोरोना के साथ ही अन्य चुनौतियों का हवाला


मुंबई (Mumbai). अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी फिच को चालू वित्त वर्ष में घरेलू वाहन मांग 20 प्रतिशत से अधिक गिरने का अनुमान है. इसकी वजह वाहन उद्योग के सामने सिर्फ कोविड-19 (Covid-19) का संकट होना नहीं, बल्कि अन्य चुनौतियों का सामना करना भी है. फिच का कहना है कि लॉकडाउन (Lockdown) नियमों में राहत के बाद जुलाई में वाहन मांग में थोड़ा सुधार हुआ है. लेकिन वाहन उद्योग को पेश आ रही दिक्कतें जस की तस बनी हुई हैं.

  बहन ने दी भाई को मुखाग्नि

फिच ने एक रिपोर्ट में कहा, ‘घरेलू वाहन मांग के सामने कई चुनौतियां बनी रहेंगी. चालू वित्त वर्ष में संख्या के हिसाब से कुल वाहन उद्योग में 20 प्रतिशत से अधिक गिरावट आने का हमारा अनुमान है. यदि कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) का असर अधिक बुरा रहा है तो और गिरावट देखने को मिल सकती है. देश में इसी साल अप्रैल से बीएस-6 उत्सर्जन मानक वाहनों की बिक्री अनिवर्य की गई है. इससे वाहनों की लागत बढ़ी है. कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) से बाजार का संकट को और गहरा हुआ है. रिपोर्ट में कहा गया है कि हालांकि लोगों के बीच स्वास्थ्य सुरक्षा को लेकर निजी वाहनों का उपयोग बढ़ा है.

  सर्दियों के साथ बढ सकता है कोरोना, 6 फीट की दूरी नहीं आएगी काम

Check Also

आयोग ने कमल नाथ की टिप्पणी पर रिपोर्ट मांगी

भोपाल . चुनाव आयोग ने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की इमरती देवी पर गई टिप्पणी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *