नए रेल पुल से NTPC के कुडगी संयंत्र की कोयला ढुलाई होगी सस्ती


नई दिल्ली (New Delhi). कनार्टक में एक नए रेल पुल के बनने से देश की सबसे बड़ी बिजली उत्पादक कंपनी एनटीपीसी को जल्दी ही वहां अपने कुडगी तापीय बिजली संयंत्र के लिए कोयला लाने में धन और समय की भारी बचत हो सकती है. कंपनी ने कहा,एनटीपीसी भीमा नदी पर नए पुल के बनजानेसेकर्नाटक (Karnataka) स्थित कुडगी सुपर थर्मल पावर स्टेशन को कोयले की आपूर्ति के लिए परिवहन लागत कम हो पाएगी.

पुल पर आवागमन शुरू होने पर परिवहन लागत में लगभग 200-500 रुपये प्रति टन की कमी आएगी और बिजली की उत्पादन लागत में कटौती संभव होगी.आवागमन का समय भी 8-15 घंटे कम होगा. नए पुल के मामले में एनटीपीसी दक्षिण पश्चिम रेलवे (Railway)से अंतिम अनुमोदन की अधिसूचना का इंतजार कर रही है. मंजूरी मिलते ही पुल पर परिचालन शुरू कर देगी.

  डेविड बीसली की अपील, दुनिया के अरबपति लाखों जीवन बचाने के लिए कुछ अरब डॉलर दान दें

दक्षिण पश्चिम रेलवे (Railway)लाइन पर नवनिर्मित 670 मीटर लंबा पुल रेलवे (Railway)और एनटीपीसी के कुडगी बिजलीघर दोनों के लिए अच्छा साबित होगा. एक तरफ बिजली उत्पादन की लागत में कमी होगी और दूसरी तरफ रेलवे (Railway)के लिए भी अपने उपलब्ध बुनियादी ढांचे के साथ अधिक माल की ढुलाई को संभव बनाएगा. इसके अलावा, दोहरी लाइनों की उपलब्धता के साथ, महाराष्ट्र (Maharashtra) के शोलापुर से कर्नाटक (Karnataka) के गडग तक यात्रा का समय भी कम हो जाएगा, जिससे यात्रियों (Passengers) के समय की बचत होगी.

  सर्दियों के साथ बढ सकता है कोरोना, 6 फीट की दूरी नहीं आएगी काम

एनटीपीसी ने महाराष्ट्र (Maharashtra) में होटगी से कर्नाटक (Karnataka) के कुडगी तक (134 किलोमीटर) की मौजूदा पटरियों की लाइनों के दोहरीकरण के लिए सहायता प्रदान की है. साथ ही भीमा नदी पर दो पुलों के निर्माण में सहयोग किया है. वर्तमान में लाइन पर 50 साल से अधिक पुराना एक पुल है, जिस पर भारी लोड वाले माल की ढुलाई करने में मुश्किल आती है. इस वजह से अधिकांश यातायात को गुंटाकल के माध्यम से बेल्लारी-गडग मार्ग पर मोड़ दिया जाता है.

  बहन ने दी भाई को मुखाग्नि

Check Also

आयोग ने कमल नाथ की टिप्पणी पर रिपोर्ट मांगी

भोपाल . चुनाव आयोग ने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की इमरती देवी पर गई टिप्पणी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *