नया डेथ वारंट जारी होने पर दोषियों के वकील ए.के.सिंह बोले, अभी कानूनी विकल्प बाकी


नई दिल्ली. दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस के चारों दोषियों के खिलाफ तीसरी बार डेथ वारंट जारी किया है. नया डेथ वारंट जारी होने के बाद दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा कि उनके पास अभी कानूनी विकल्प बाकी है और आर्टिकल 21 जीने का अधिकार देता है.

  कोरोना के संक्रमण से सोमालिया में पहली मौत, चिंता में पड़ा प्रशासन

वहीं निर्भया की मां ने कहा है कि बहुत खुश नहीं हूं क्योंकि पहले भी दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी हो चुका है. उन्होंने कहा कि कभी हार नहीं मानेंगे और कहते है देर है अंधेर नहीं है. उम्मीद हैं कि 3 मार्च को चारों दोषी फांसी पर चढ़ेंगे. एपी सिंह ने बताया कि दोषी पवन की राष्ट्रपति के सामने नई दया याचिका दोबारा से दाखिल करेगा क्योंकि नए तथ्य सामने आए हैं.

  विचारों को पेश करने में घबराते हैं तो करें ये उपाय

राष्ट्रपति और सुप्रीम कोर्ट पर दवाब बनाएंगे और जब तक दोषी सारे कानूनी विकल्प का इस्तेमाल नहीं कर लेते तो यह मिस कैरिज ऑफ जस्टिस होगा. अक्षय, विनय और पवन की मामला भी लंबित है. पवन के नाबालिग होने पर भी फैसला आना है और एसएलपी पर फैसला आना है. मर्सी (दया याचिका) और पोस्ट मर्सी की याचिका आती है. सिंह ने कहा कि जस्टिस दिखना और होना चाहिए. सिर्फ अखबार और दीवारों पर लिखने से जस्टिस नहीं होगा.

  ओलिंपिक क्वॉलिफिकेशन स्थगित होने से भारतीय एथलीटों को नुकसान : कोच

Check Also

तेज रफ्तार से बढ़ते जा रहे हैं कोरोना के मरीज

राष्ट्रीय » तेज रफ्तार से बढ़ते जा रहे हैं कोरोना के मरीज नई दिल्‍ली . …