नीट ‘आंसर की’ से मिला संभावित स्कोर, कटऑफ में गिरावट संभव

कोेटा. सीबीएसई द्वारा शुक्रवार (Friday) को जारी नीट-यूजी,2018 की अधिकृत ‘आंसर की’ एवं ओएमआर रिस्पांस शीट से स्टूडेंट्स को अपनी परफॉर्मेंस के बारे में पता चला. वे अपनी आपत्तियां 27 मई शाम 5 बजे तक वेबसाइट www.cbseneet.nic.in पर दर्ज करवा सकते हैं. 5 जून को रिजल्ट घोषित होने पर वास्तविक कटऑफ का पता चल सकेगा.

प्रमुख कोचिंग संस्थानों के शिक्षकों का कहना है कि नीट में ऑल इंडिया कोटा व स्टेट कोटा में केटेगरी के अनुसार अलग-अलग कटऑफ रहेगी. उन्होंने संभावना जताई कि इस वर्ष कटऑफ 2 से 5 अंकों की गिरावट आ सकती है. गत वर्ष सामान्य वर्ग की कटऑफ 720 में से 555 अंक रही थी. इस बार यह 550 तक आ सकती है. नीट के स्कोर से देश के 476 मेडिकल कॉलेजों में ऑल इंडिया कोटा की 15 प्रतिशत सीटों पर तथा शेष 85 प्रतिशत सीटें स्टेट रैंक व मैनेजमेंट कोटा से दाखिले होंगे, जिससे हर स्तर पर अधिकृत कटऑफ अलग-अलग होगी.

  युवती का फर्जी साेशल मीडिया अकांउट बना आपत्तिजनक पोस्ट की, केस दर्ज

बायोलॉजी के 2 प्रश्नों के विकल्प पर संशय

शिक्षकों ने बताया कि नीट-यूजी के पेपर में केमिस्ट्री में एक प्रश्न पर बोनस अंक मिलने की उम्मीद थी, लेकिन कोई बोनस अंक नहीं दिए गए हैं. बायोलॉजी के 2 प्रश्नों के विकल्प मेें त्रुटियां हैं. एक प्रश्न एम्निऑन के ओरिजन से संबंधित है, इसमें चारों विकल्प गलत माने जा रहे हैं अर्थात एक भी विकल्प सही नहीं है. इसी तरह, दूसरा प्रश्न एफई प्लस-2 एवं एफई प्लस-3 के प्रश्न में दोनों विकल्प सही हो सकते हैं. 4-4 अंकों के दोनों प्रश्नों पर परीक्षार्थी आपत्तियां भेजेंगें.

  उदयपुर में होगी अब और ज्यादा सख्ती : कलक्टर ने जारी किए विस्तृत निर्देश

त्रुटि होने पर 1 हजार रू. लौटाए सीबीएसई

कॅरिअर पॉइंट में फैकल्टी अमित गुप्ता ने सवाल उठाया कि नीट के पेपर में किसी प्रश्न के विकल्प में त्रुटि पाए जाने पर परीक्षार्थी 1000 शुल्क देकर आपत्ति भेजेंगे. लेकिन त्रुटि सही पाए जाने पर परीक्षार्थी को उसका शुल्क वापस क्यों नहीं लौटाया जाएगा. उन्होने कहा कि नीट के पेपर में कोई त्रुटि होने पर परीक्षार्थी उसके लिए जिम्मेदार कैसे हो सकते हैं, उनसे फीस क्यों वसूल की जाए.

नीट में गत वर्ष तक ‘आंसर की’ के बाद पेपर में कोई त्रुटि पाए जाने पर अभ्यर्थी का शुल्क 1000 रू. उसे वापस किया गया था. लेकिन इस बार सीबीएसई ने शुल्क वापस नहीं लौटाने की शर्त रखकर परीक्षार्थियों के साथ न्याय नहीं किया है. याद दिला दें कि 6 मई को कोटा में 10,974 परीक्षार्थियों ने पेपर दिया था. राज्य के 6 शहरों में 99,844 परीक्षार्थियों ने नीट परीक्षा दी. देश में कुल पंजीकृत 13.26 लाख में से करीब 12.50 लाख परीक्षार्थियों ने नीट पेपर दिया था.

  प्राइवेट कोविड अस्पतालों में एमडी फिजिशियन नहीं, तो मान्यता होगी समाप्त

The post नीट ‘आंसर की’ से मिला संभावित स्कोर, कटऑफ में गिरावट संभव appeared first on .

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *