नोएडा में विदेश से आए 1851 लोगों में 167 अब भी लापता, तलाश जारी

नोएडा (Noida). उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर में दिनों दिन कोरोना की स्थिति गंभीर हो रही है. इसे रोकने का एक मात्र उपाए संक्रमित रोगियों की पहचान कर उन्हें क्वारनटीन करना है, जिससे कि इस वायरस के फैलाव को रोका जा सके. ये बीमारी विदेश से लौटे लोग अपने साथ लेकर आए हैं. इसलिए प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी विदेश से लौटे लोगों पर नजर बनाए हुए है. जिला प्रशासन द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक, नोएडा (Noida) में विदेश से आए 167 लोग लापता हैं, जिन्हें प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी तमाम प्रयासों के बाद भी ट्रैक नहीं कर सके हैं और अभी भी उनकी तलाश जारी है. कोरोना के खतरे को देखते हुऐ उनकी जांच की जानी आवश्यक है. नोएडा (Noida) में विदेश से अभी तक 1851 लोग लौटे हैं. इनमें से 1684 लोगों को स्वास्थय विभाग ने ट्रैक कर लिया है, लेकिन 167 अभी लापता हैं. इनका पता स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को नहीं मिल सका है और उनकी तलाश जारी है.

  मुंबई दिल्ली, सूरत समेत 11 शहरों से आने वाले प्रवासी अब ब्लॉक के क्वारंटाइन कैंप में रहेंगे

वहीं 1082 मामले ऐसे हैं, जिन्हें विदेश से लौटे हुए 28 दिन से अधिक का समय बीत चुका है. गौतमबुद्ध नगर में कोरोना के पॉजिटिव मरीजों की संख्या 58 है, जिनमें से 8 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. जिले में 1225 लोगों को अभी सर्विलांस पर रखा गया है. 1030 लोगों का सैंपल लैब में जांच के लिए भेजे गए हैं, जिसमें से 678 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है. जबकि 300 लोगों की रिपोर्ट का इंतजार चल रहा है. रिपोर्ट के आने तक ये सभी व्यक्ति क्वारनटीन में हैं. इनमें से कुछ मामले ऐसे हैं, जिनमें जांच के लिए सैंपल लिए दस दिन से अधिक का समय बीत चुका है.

  अब रेलवे की 30 विशेष ट्रेनों में भी मिलेगा आरएसी टिकिट

Check Also

चीन ने भारत से अपने नागरिकों को वापस बुलाया

नई दिल्‍ली . चीन ने छात्रों, पर्यटकों और उद्योगपतियों सहित सभी नागरिकों को भारत से …