न्यूजीलैंड में बिना तारों के होगी बिजली सप्लाई, माइक्रोवेव की बहुत पतली बीम के रूप में घरों तक पहुंचाई जाएगी बिजली


ऑकलैंड . बिना तारों के बिजली की सप्लाई अब तक सिर्फ कल्पना ही लगती थी, पर न्यूजीलैंड की एक फर्म एमरोड, ऊर्जा वितरण कंपनी पावरको और टेस्ला मिलकर इसका ट्रायल आने वाले महीनों में ही करने जा रहे हैं. ये तीनों ऑकलैंड उत्तरी द्वीप में स्थित एक सोलर फार्म से कई किमी दूरदराज स्थित बस्तियों में बीम एनर्जी के जरिए बिजली पहुंचाने की तैयारी कर रहे हैं.

  मार्टिनेज कोरोना संक्रमित होने के बाद पृथकवास में भेजी गयीं

इस टेक्नोलॉजी के तहत माइक्रोवेव की बहुत पतली बीम के रूप में बिजली पहुंचाई जाएगी. पावर बीमिंग की इस प्रक्रिया का पहले भी इस्तेमाल किया जा चुका है. लेकिन यह सेना से जुड़े काम और अंतरिक्ष से जुड़े प्रयोगों तक ही सीमित था. 1975 में अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने माइक्रोवेव के माध्यम से 1.6 किमी दूरी तक 34.6 किलोवॉट बिजली भेजने का रिकॉर्ड बनाया था. हालांकि इसका इस्तेमाल व्यावसायिक उपयोग के लिए नहीं किया गया.

  शाओमी ने भारत में लॉन्च किए पोर्टेबल ब्लूटूथ स्पीकर और नेकबैंड ईयरफोन

एमरोड कंपनी के फाउंडर ग्रेग कुशनिर ने बताया कि हम शुरुआत में 1.8 किमी तक कुछ किलोवॉट बिजली भेजेंगे. धीरे-धीरे दूरी और पावर में बढ़ोतरी करेंगे. उन्होंने बताया कि इससे दूरदराज इलाकों में बिजली भेजने पर तारों के भारी भरकम खर्च से निजात मिलेगी. कुशनिर के मुताबिक बिना तारों के बिजली पहुंचाने की दो और टेक्नोलॉजी पर उनकी कंपनी काम कर रही है. इनमें से एक रिले है, ये निष्क्रिय उपकरण है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *