परिवार से मिलने शाकिब को करना पड़ा इंतजार


ढ़ाका . कोरोना (Corona virus) महामारी के बीच ही बांग्लादेश के क्रिकेटर शाकिब अल हसन अपने परिवार से मिलने अमेरिका पहुंचे थे पर उन्हें इसके लिए 14 दिनों का लंबा इंतजार करना पड़ा. शाकिब की पत्नी उमे अहमद शिशिर बेटी के साथ अमेरिका में रहती हैं. अमेरिका में लॉकडाउन (Lockdown) होने से पहले 21 मार्च को शाकिब अपने परिवार से मिलने अमेरिका पहुंच गए थे.

  नहीं रहे छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी, लम्बी बीमारी बाद नारायणा अस्पताल में ली अंतिम सांस

हालांकि उन्हें परिवार के पास जाने से पहले 14 दिन के लिए आईसोलेट किया गया और वह होटेल में ही रहे. उन्हें होटेल में भी किसी से मिलने की अनुमति नहीं थी और 14 दिन तक उन्हें अकेले रहना था. शाकिब जिस होटेल में रुके थे वहां से पांच मिनट की दूरी पर ही उनका घर है जहां उनकी पत्नी औऱ बेटी रह रहे थे. इसके बावजूद वह 14 दिन तक उनसे दूर रहे हैं. आईसोलेशन का समय पूरा होने के बाद ही शाकिब को उनके परिवार से मिलने दिया गया.

  टिड्डी दलों से निपटने ड्रोन से कीटनाशकों का छिड़काव किया जाएगा : तोमर

शाकिब ने कोरोना वायरल के खतरे को देखते हुए एक फाउंडेशन बनाई है जिसका मिशन, ‘ कोरोना से बांग्लादेश बचाओ लेकर है’. अपने फेसबुक पेज पर शाकिब अल हसन ने प्रशंसकों को बताया है कि उनका मकसद गरीब परिवारों की मदद करना है जो कोरोना (Corona virus) से पीड़ित हैं. शाकिब के अलावा मशरफे मोर्ताजा, रुबेल हुसैन, लिट्टन दास और मोसाद्देक हुसैन ने भी लोगों से संकट की इस घड़ी में हरसंभव सहायता देने की अपील की है.

  विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस के मौके पर #Mission_ अनिवार्य के वेबसाइट को किया लॉन्च

Check Also

सबसे गर्म साल हो सकता है 2020, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी

नई दिल्ली (New Delhi). वैज्ञानिकों के एक अंतरराष्ट्रीय समूह ने चेतावनी दी है कि जलवायु …