पाक क्रिकेट टीम के 8 खिलाड़ियों की फिटनेस पर मोहसिन ने उठाए सवाल

नई दिल्ली (New Delhi) . पाकिस्तान के पूर्व ओपनिंग बल्लेबाज मोहसिन खान ने पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की मौजूदा फिटनेस के मानकों पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा 11 पाक खिलाड़ियों में से 8 फिटनेस मानकों पर खरे नहीं उतरते. 1977 से 1986 के बीच 48 टेस्ट और 75 वनडे खेलने वाले मोहसिन ने इस बात पर चिंता जाहिर की कि टॉप आर्डर सारा वजन शर्जील खान पर डाल देता है. उन्होंने कहा पाकिस्तान के लिए ओपनिंग हमेशा से एक बड़ा मुद्दा रहा है. मोहसिन खान ने कहा कि शरजील बेहद प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं. उनकी फिटनेस भी कोई समस्या नहीं है. लेकिन मुझे लगता है कि खेलने वाले खिलाड़ियों में से 8 खिलाड़ी फिटनेस मानकों पर खरे नहीं उतरते. बाएं हाथ के खिलाड़ी शरजील ने एक टेस्ट, 25 वनडे और 15 टी20 मैच खेले हैं. उन्होंने अपना आखिरी मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2017 में वनडे के रूप में खेला था.

  गरीब और किसानों को राहत पहुंचाने के विकल्प मोदी सरकार की ओर से खुले हैं: सूत्र

उल्लेखनीय है कि मोहसिन खान 2011 में पाकिस्तानी टीम के प्रमुख चयनकर्ता और अल्पकालीन कोच भी रहे हैं. उन्होंने मिस्बाह उल हक की यह कहकर आलोचना की कि वह कोच और प्रमुख चयनकर्ता की दोहरी भूमिका निभा रहे हैं. उन्होंने कहा जब इमरान खान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने तो मैं यह उम्मीद कर रहा था कि पीसीबी में कुछ निर्णय मेरिट के आधार पर लिए जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.
उन्होंने कहा कि दुख की बात है कि हमारा क्रिकेट पटरी से उतर रहा है और इसको लेकर कोई परेशान नहीं है. टीम की परफॉर्मेंस में कोई नियमितता नहीं है. टीम के प्रमुख कोच और चयनकर्ता मिस्बाह उल हक की कोई विश्वसनीयता नहीं है. आप किसे जिम्मेदार ठहराएंगे, हेड कोच अपनी ही चुनी टीम के साथ अभ्यास कर रहा है.

  भोपाल में खेल गतिविधियां प्रारंभ करने के लिए खेल विभाग ने तैयार की गाइड लाइन

2011 में मोहसिन अल्पकालीन कोच थे, उन्हें भी दोहरी जिम्मेदारी निभाने का प्रस्ताव दिया गया था, जिसे उन्होंने स्वीकार नहीं किया था. मोहसिन ने कहा जब मैं हेड कोच था, पीसीबी के चेयरमैन एजाज बट्ट ने मुझे मुख्य चयनकर्ता बनने का प्रस्ताव दिया था, जिसे मैंने इसलिए इनकार कर दिया था कि इससे रुचियों में संघर्ष होगा. 65 वर्षीय मोहसिन खान लॉर्ड्स में दोहरा शतक बनाने वाले पहले पाकिस्तानी थे. उन्होंने बाबर आजम की प्रशंसा करते हुए कहा वह तीनों फॉर्मैट में बेहतर प्रदर्शन कर रहा है. टी20 टीम का नेतृत्व भी बखूबी संभाल रहा है. उन्होंने कहा बाबर लगातार तीनों फॉर्मैट में बढ़िया परफॉर्म कर रहे हैं, टी20 की कप्तानी के दबाव के बावजूद. वह अनुशासित खिलाड़ी हैं. वह युवाओं के रोल मॉड्ल हैं.

  उत्तराखंड ने बोर्ड एग्जाम के लिए केंद्र से मांगे 1 करोड़

Check Also

विदेशों में बस्तरिया इमली की चटकार : साधुराम दुल्हानी

जगदलपुर में एशिया की सबसे बड़ी इमली मंडी है. यहां से इमली दूसरे राज्यों में …