पेट्रोल-डीजल की कीमतें 73 साल में सबसे ज्यादा UPA सरकार के बराबर लगे टैक्स: सोनिया गांधी

नई दिल्ली (New Delhi) . कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पेट्रोल (Petrol) और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर केंद्र सरकार (Central Government)पर निशाना साधा और कहा कि इन दोनों पेट्रोलियम उत्पादों पर उत्पाद शुल्क को कम करके यूपीए सरकार के समय की दरों के बराबर किया जाए ताकि देश के लोगों को राहत मिल सके. उन्होंने सरकार से एक फिर यह आग्रह किया कि तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की किसानों की मांग भी स्वीकार की जानी चाहिए. सोनिया ने एक बयान में कहा, आजाद भारत के इतिहास में पहली बार देश आज एक दोराहे पर खड़ा है.

एक ओर देश का अन्नदाता पिछले 44 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर अपनी जायज़ मांगों के समर्थन में डटा हुआ है, वहीं देश की निरंकुश, संवेदनहीन और निष्ठुर भाजपा सरकार ग़रीब किसान व मध्यम वर्ग की कमर तोड़ने में जुटी है. उन्होंने यह भी कहा, ”कोरोना की चौतरफा मार से ध्वस्त अर्थव्यवस्था के बीच मोदी सरकार अपना खजाना भरने के लिए आपदा को अवसर बनाने में लगी है. आज कच्चे तेल की क़ीमत 50.96 डॉलर (Dollar) प्रति बैरल है यानी मात्र 23.43 रुपये प्रति लीटर. इसके बावजूद डीजल 74.38 रुपये और पेट्रोल (Petrol) 84.20 रुपये प्रति लीटर में बेचा जा रहा है.

  पीएम से मिली अर्नब को एयर स्ट्राइक की जानकारी : राहुल

ये पिछले 73 साल में सबसे अधिक है.” कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया, ”अंतराष्ट्रीय बाज़ार में कीमतें कम होने के बावजूद सरकार ने आम उपभोक्ता को इसका लाभ देने की बजाय उत्पाद शुल्क में बेतहाशा बढ़ोतरी करके मुनाफा वसूली के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. पिछले साढ़े छह सालों में मोदी सरकार ने उत्पाद शुल्क बढ़ा कर लगभग 19 लाख करोड़ आम जनता की जेब से वसूले हैं.” सोनिया के मुताबिक, गैस सिलेंडर के दामों को भी भाजपा सरकार ने बेतहाशा बढ़ा हर घर का बजट बिगाड़ा है. उन्होंने कहा, ”मैं सरकार से मांग करती हूं कि वह पेट्रोल (Petrol) व डीज़ल पर उत्पाद शुल्क की दरें यूपीए सरकार के समान करे और त्रस्त जनता को तत्काल राहत प्रदान करे.” उन्होंने यह भी कहा, ”मैं सरकार से तीनों खेती कानूनों को भी तत्काल रद्द करके किसानों की सभी मांगें पूरी करने का आग्रह करती हूं.

  अब ऑनलाइन ही वोटर आईडी कार्ड कर पाएंगे जनरेट

गौरतलब है कि सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों द्वारा लगातार दूसरे दिन कीमतों में बढ़ोतरी करने के बाद राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल (Petrol) की कीमत गुरुवार (Thursday) को 84.20 रुपये प्रति लीटर हो गई, जो अब तक का उच्चतम स्तर है. तेल विपणन कंपनियों की मूल्य अधिसूचना के अनुसार, गुरुवार (Thursday) को पेट्रोल (Petrol) की कीमत में 23 पैसे प्रति लीटर और डीजल की कीमत में 26 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई. इस बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में अब पेट्रोल (Petrol) की कीमत 84.20 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 74.38 रुपये हो गई है. मुंबई (Mumbai) में पेट्रोल (Petrol) 90.83 रुपये प्रति लीटर और डीजल 81.07 रुपये प्रति लीटर है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *