प्रवासी मजदूरों के मसीहा बने अभिनेता सोनू सूद के खिलाफ बीएमसी ने खोला मोर्चा

मुंबई (Mumbai) . कोविड-19 (Covid-19) लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान प्रवासियों की मदद करने में अव्वल रहे बॉलीवुड (Bollywood) अभिनेता सोनू सूद के खिलाफ बृहन्मुंबई (Mumbai) नगर निगम ने मोर्चा खोल दिया है. बीएमसी ने सूद के खिलाफ पुलिस (Police) में शिकायत दर्ज कर आरोप लगाया है कि उन्होंने जुहू में शक्ति सागर बिल्डिंग में अपने 6 मंजिला घर को ‘गैरकानूनी’ तरीके से बिना उचित अनुमति लिए बदल दिया है. सामाजिक कार्यकर्ता की शिकायत के बाद बीएमसी ने जुहू पुलिस (Police) स्टेशन में महाराष्ट्र (Maharashtra) रीजन एंड टाउन प्लानिंग एक्ट के तहत शिकायत दर्ज की है. पुलिस (Police) कार्रवाई करने से पहले मामले की जांच कर रही है. वहीं सूद ने दावा किया है कि उन्होंने कोई अवैध काम नहीं किया है, इसके लिए सभी जरूरी अनुमतियां ले ली हैं. अब केवल महाराष्ट्र (Maharashtra) कोस्टल जोन मैनेजमेंट अथॉरिटी (एमसीजेडएमए) की अनुमति का इंतजार है.

  कोरोनाकाल में घरेलू जानवर पालने का प्रचलन बढ़ा, 2020 में पशु खाद्यान्न की बिक्री 20 फीसदी बढ़ी

बता दें कि जून 2018 में सूद ने बीएमसी के के-वेस्ट वार्ड बिल्डिंग प्रपोजल डिपार्टमेंट को आवेदन दिया था, जिसमें उनके आवासीय परिसर को लॉजिंग-कम-बोर्डिग सुविधा में बदलने का प्रस्ताव था. बीएमसी ने सितंबर 2018 में प्रस्ताव को लौटकर सभी मानदंडों का पालन करते हुए संशोधित प्रस्ताव पेश करने के लिए कहा था, जो अब तक नहीं दिया गया है. राज्य में विपक्षी दल भाजपा ने बीएमसी के कदम की निंदा करते हुए आरोप लगाया है कि यह अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ की गई प्रतिशोधात्मक कार्रवाई जैसा कदम है. बीजेपी प्रवक्ता राम कदम ने सवाल उठाकर कहा कि जब बीएमसी ने पिछले साल उसी परिसर को क्वारंटीन फैसिलिटी में बदल दिया था, तब कुछ भी गलत नहीं था. अब अचानक वही परिसर अवैध हो गया.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *