भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन का जानवरों पर परीक्षण सफल


नई दिल्ली (New Delhi). देश में कोरोना (Corona virus) के बढ़ते संक्रमण के बीच राहत देने वाली खबर सामने आई है. भारत बायोटेक ने अपनी कोरोना वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ का बंदरों पर किए गए परीक्षण को सफल बताते हुए कहा है कि इससे बंदरों के शरीर में वायरस के खिलाफ एंडीबॉडीज बनी हैं. भारत बायोटेक ने बताया है कि उसे मकाउ प्रजाति के 20 बंदरों पर कोवैक्सीन का परीक्षण किया था.

  दीपिका, सारा और श्रद्धा को क्लीन चिट नहीं

बंदरों को चार अलग-अलग समूह में विभाजित करके एक समूह को प्लेसिबो और तीन समूह को अगल-अलग तरह की तीन वैक्सीन दी गईं. वैक्सीन का पहला डोज देने के 14वें दिन दूसरा डोज दिया गया. दूसरा डोज देने के 14 दिन बाद सभी बंदर कोरोना (Corona virus) कोविड-19 (Covid-19) से एक्सपोज हुए. जिन बंदरों को वैक्सीन दी गई उनमें निमोनिया के लक्षण नहीं पाए गए जबकि प्लेसिबो दिए जाने वाले समूह के बंदरों में निमोनिया के लक्षण पाए गए.

  प्रो. रेणु जैन देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की कुलपति

परीक्षण में पाया गया कि बंदरों में कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ एंटीबॉडीज बनी है और उनकी नाक तथा फेफडों में वायरस का प्रसार घट गया है. किसी भी बंदर में वैक्सीन का कोई दुष्प्रभाव नहीं देखा गया. भारत बायोटेक यह वैक्सीन भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के साथ मिलकर विकसित कर रही है. कोवैक्सीन का दूसरे चरण का मानव परीक्षण देश के विभिन्न हिस्सों में चल रहा है.

  नेशनल हाईवे-8 पर जनजाति अभ्यर्थियों का धरना समाप्त, संयुक्त बैठक में सहमति के बाद हाईवे पर आवागमन हुआ सामान्य

Check Also

प्रो. रेणु जैन देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की कुलपति

आप यहां हैं :Home » प्रो. रेणु जैन देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की कुलपति भोपाल . …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *