मंत्री हरदीप सिंह पुरी दरभंगा और देवघर हवाई अड्डों की समीक्षा के लिए दौरा करेंगें

नई दिल्ली (New Delhi). हरदीप सिंह पुरी, नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), 12 सितंबर, 2020 को दरभंगा और देवघर हवाई अड्डों की समीक्षा करने के लिए क्रमशः बिहार (Bihar)और झारखंड राज्यों का दौरा करेंगे. भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण इन हवाई अड्डों को विकसित कर रहा है. इन हवाई अड्डों के परिचालन के साथ ही क्षेत्र की हवाई कनेक्टिविटी में सुधार हो जाएगा. इसके अलावा इससे स्थानीय पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और क्षेत्र में रोजगार के अवसरों का निर्माण होगा. ये हवाई अड्डे कनेक्टिविटी और बढ़ी हुई आर्थिक गतिविधियों के माध्यम से इन क्षेत्रों के लोगों के समग्र आर्थिक विकास में योगदान करेंगें. पुरी ने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कुशीनगर हवाई अड्डे का दौरा किया था. उन्होंने हवाई अड्डे के विकास की प्रगति की समीक्षा की और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ के साथ नागरिक उड्डयन अवसंरचना और कनेक्टिविटी से संबंधित मुद्दों पर रचनात्मक विचार-विमर्श किया.

  चीफ जस्टिस ने भूमि अधिग्रहण को पैसले पर उठाए सवाल

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना के अंतर्गत दिल्ली, मुंबई (Mumbai) और बेंगलुरु (Bengaluru) के लिए सिविल उड़ान का संचालन शुरू करने के लिए दरभंगा में सिविल एन्क्लेव विकसित कर रहा है. 1,400 वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले हवाई अड्डे के अंतरिम टर्मिनल भवन का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है. छह चेक-इन काउंटरों वाला टर्मिनल भवन, सभी आवश्यक यात्री सुविधाओं के साथ व्यस्ततम समय में 100 यात्रियों (Passengers) को संभालने में सक्षम होगा. इस हवाई अड्डे को बोइंग 737-800 जैसे विमानों के लिए अनुकूल बनाने के लिए रनवे को मजबूत करने, टैक्सीवे को जोड़ने और कनेक्टिंग रोड के साथ नए एप्रन का निर्माण कार्य जोरों पर है और जल्द ही यह हवाई अड्डा सिविल संचालन के लिए तैयार हो जाएगा.

  योगी सरकार के फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट पहुंचा बंगाली समुदाय

दरभंगा हवाई अड्डा भारतीय वायु सेना के अंतर्गत आता है और अंतरिम सिविल एन्क्लेव के विकास के लिए भूमि एएआई को सौंपी गई थी, जिसमें संबंधित सुविधाओं के साथ प्री-फैब टर्मिनल भवन का निर्माण, सड़क नेटवर्क को जोड़ना, आने वाले विमानो के लिए रनवे और फैलाव क्षेत्र को मजबूती प्रदान करना और एक लिंक टैक्सी ट्रैक का निर्माण शामिल है, जिसकी लागत 92 करोड़ रुपये है. दरभंगा में अंतरिम सिविल एन्क्लेव की नींव 24 दिसंबर, 2018 को रखी गई थी.

  अध्ययनों से संकेत मिलता है कि युवा और स्वस्थ लोग कोरोना की चपेट में जल्दी आ रहे

Check Also

चीन से तनाव के बीच भारत अमेरिका से खरीदेगा और 72 हजार असॉल्ट राइफल

नई दिल्ली (New Delhi). चीन के साथ सीमा पर तनाव के बीच बारत ने 2,290 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *