महाराष्ट्र में एक करोड़ परिवारों का अतरिक्त बिजली बिल भरेगी सरकार


-कोरोना काल में आए अधिक बिजली बिल से उपभोक्ताओं को मिलेगी राहत

मुंबई (Mumbai). कोरोना लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान बिजली बिल से परेशान उपभोक्ताओं को राहत देते हुए महाराष्ट्र (Maharashtra) की उद्धव ठाकरे सरकार (Government) ने राज्य में एक करोड़ से ज्यादा उपभोक्तओं के अतरिक्त बिजली बिल को भरने का फैसला किया है. सरकार (Government) का कहना है कि लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान आए ज्यादा बिल की सरकार (Government) भरपाई करेगी और ऐसी शिकायतों का निपटारा किया जाएगा. गौरतलब है कि लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान सूबे में उपभोक्ताओं का बिजली बिल बहुत ज्यादा आया था. इसको लेकर पिछले महीने कुछ बड़े कारोबारियों और सिलेब्रिटीज ने भी शिकायत कि थी उनके बिजली का बिल दोगुना (guna) और तिगुना (guna) हो गया है. इसके बाद से ही राज्य सरकार (Government) बढ़े हुए बिजली बिलों से लोगों को राहत देने पर विचार कर रही थी. इसी के तहत सरकार (Government) ने यह फैसला लिया है. सरकार (Government) ने कहा कि हर परिवार को 2019 में आए बिल के हिसाब से भुगतान करना होगा. इससे किसी का अधिक बिल आया होगा तो उसे ज्यादा रकम चुकाने से राहत मिल जाएगी.

  भारत में अलगाववादियों का विद्रोह शुरू कराएगा चीन

उद्धव सरकार (Government) ने कहा कि यदि अप्रैल, मई और जून के महीनों का बिल बीते साल की तुलना में 100 यूनिट तक ज्यादा आया है तो उसका भुगतान सरकारी खजाने से किया जाएगा. यदि उपभोक्ता का बिल 100 यूनिट से लेकर 300 यूनिट तक अधिक आया है तो सरकार (Government) अतिरिक्त बिल का 50 प्रतिशत हिस्सा वहन करेगी. इतना ही नहीं अगर किसी शख्स का बिल 300 यूनिट से ज्यादा आया है तो 25 फीसदी बिल का भुगतान सरकार (Government) करेगी. सूत्रों के मुताबिक, डिप्टी सीएम अजित पवार और ऊर्जा मंत्री नितिन राउत के बीच पिछले महीने हुई मीटिंग में इस पर सहमति बन गई थी. बताया जा रहा है कि सरकार (Government) के इस फैसले से उसके खजाने पर 1,000 करोड़ रुपये का बोझ आएगा.

  राजस्थान में कोरोना से 15 और मरीजों की मौत, 2010 नए मामले आए सामने

Check Also

आयोग ने कमल नाथ की टिप्पणी पर रिपोर्ट मांगी

भोपाल . चुनाव आयोग ने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की इमरती देवी पर गई टिप्पणी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *