मारुति की न्यू एस-प्रेसो ने जीता ग्राहकों का दिल, बिक्री 50 हजार यूनिट पार


नई दिल्ली (New Delhi). देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी की पिछले साल सितंबर में लॉन्च हुई माइक्रो-एसयूवी एस-प्रेसो को ग्राहकों का शानदार प्रतिसाद मिला है. कंपनी अब तक 50 हजार से ज्यादा मारुति एस-प्रेसो की बिक्री कर चुकी है. इनमें सबसे ज्यादा डिमांड कार के दो टॉप एंड वेरियंट वीएक्सआई और वीएक्सआई प्लस की है. एस-प्रेसो की कुल बुकिंग में इन दो टॉप एंड वेरियंट की हिस्सेदारी 97 फीसदी है. मारुति एस-प्रेसो की 48 फीसदी डिमांड टियर-2 और टियर-3 शहरों से आ रही है. खरीदारों में इसका स्टारी ब्लू और सिजल ऑरेंज कलर सबसे ज्यादा पसंद किया जा रहा है.

  कोविड-19: प्रदूषित शहरों में कोरोना वायरस से जान जाने का खतरा बढ़ा

मारुति सुजुकी को एस-प्रेसो की लॉन्चिंग के शुरुआती 11 दिनों में इसकी 10 हजार से ज्यादा बुकिंग मिल गई थी और बिक्री शुरू होने के पहले महीने ही यह टॉप 10 बेस्ट सेलिंग कारों की लिस्ट में शामिल हो गई थी. एसयूवी जैसी डिजाइन, लेटेस्ट फीचर्स से लैस इंटीरियर, बेहतर इंजन और किफायती कीमत की वजह से इसे काफी पसंद किया जा रहा है. मारुति एस-प्रेसो में ड्राइवर साइड एयरबैग, रिवर्स पार्किंग सेंसर्स, एबीएस, ईबीडी, सीट बेल्ट रिमाइंडर, स्पीड अलर्ट सिस्टम और वीइकल इम्मोबिलाइजर जैसे सेफ्टी फीचर स्टैंडर्ड दिए गए हैं.

  स्टीव एक साल तक बैन, फिर भी विराट से आगे, नंबर 1 बल्लेबाज बनने के लिए अपनाई ये रणनीति

स्टेंडर्ड, एलएक्सआई और वीएक्सआई वेरियंट में पैसेंजर साइड एयरबैग ऑप्शनल, जबकि टॉप वेरियंट वीएक्सआई प्लस में यह फीचर स्टैंडर्ड मिलता है. मारुति की इस छोटी एसयूवी में बीएस6 कम्प्लायंट 1.0-लीटर पेट्रोल (Petrol) इंजन दिया गया है. यह इंजन 5500आरपीएम पर 67बीएचपी का पावर और 3500आरपीएम पर 90एनएम पीक टॉर्क जेनरेट करता है. इसके साथ 5-स्पीड मैन्युअल और एटीएमटी गियरबॉक्स के ऑप्शन हैं. एस-प्रेसो को सुजुकी के हार्टेक्ट प्लैटफॉर्म पर बनाया गया है, जिसका इस्तेमाल मारुति स्विफ्ट, वैगनआर और बलेनो जैसी कारों में भी हुआ है.

  मारुति सुजुकी ने मार्च में उत्पादन में 32 प्रतिशत कटौती की

Check Also

कोरोना पॉजिटिव मृतक बुजुर्ग का नहीं था कोई ट्रेवल हिस्ट्री

रांची (Ranchi). बोकारो में कोरोना पॉजिटिव जिस 65वर्षीय बुजुर्ग की गुरुवार (Thursday) को मौत हुई …