यूएई ने एक जुलाई से अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को दी अनुमति, नई गाइडलाइन के पालन पर ही मिलेगी एंट्री


अबुधाबी. दुनियाभर में कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. इस बीच कई देशों अपने आर्थिक हितों के कारण लॉकडाउन (Lockdown) में ढील देना शुरू कर दिया है. खाड़ी देश संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने भी 1 जुलाई से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक हटा दी है. जुलाई से पाकिस्तान को छोड़कर बाकी देशों से उड़ानें यूएई आ सकती है, हालांकि यहां पहुंचने वाले सभी यात्रियों (Passengers) को नई गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य होगा. यूएई सरकार (Government) ने कहा है कि नई गाइडलाइन का पालन न करने वाले यात्रियों (Passengers) को देश में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा. बता दें कि कोरोना (Corona virus) के संक्रमण के कारण यह देश लॉकडाउन (Lockdown) में है जिससे इसकी आर्थिक व्यवस्था को तगड़ी चोट पहुंची है. यूएई में अबतक कोरोना (Corona virus) के कुल 47,797 मामले सामने आए हैं, जबकि 313 लोगों की मौत हो चुकी है.

  आखिरी सेमेस्टर की परीक्षाएं रद्द कर छात्रों का भविष्य बचाएं – केजरीवाल का पीएम को पत्र

यूएई की सरकार (Government) ने कहा है कि यहां आने वाले सभी वैध वीजा धारक विदेशी नागरिकों को मान्यता प्राप्त लैब से कोरोना (Corona virus) की जांच करवाना जरूरी होगा. यह टेस्ट उड़ान भरने के 72 घंटे पहले का होना चाहिए. जिसे एयरपोर्ट पर उतरते ही संबंधित अधिकारियों को दिखाना होगा. ये लैब यूएई की सरकार (Government) से मान्यता प्राप्त होने चाहिए. फिलहाल 17 देशों में 106 शहरों में ये लैब उपलब्ध हैं. आने वाले दिनों में इस लिस्ट में देशों और लैब की संख्या को बढ़ाया जाएगा. जिन देशों में ये लैब नहीं हैं उनका टेस्ट यूएई पहुंचने के बाद किया जाएगा. जिसके बाद उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारंटीन किया जाएगा.

  गैंगस्टर विकास दुबे के साथी गुड्डन त्रिवेदी और सोनू तिवारी को महाराष्‍ट्र ATS ने पकड़ा

जिस देश में कोरोना (Corona virus) जांच के मान्यता प्राप्त लैब हैं, वहां बिना जांच कराए किसी भी यात्री को प्लेन में चढ़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी. अगर लैब चाहे तो टेस्ट रिजल्ट को डिजिटल माध्यम से यात्री को दे सकता है. यूएई आने वाले नागरिकों को क्वारेंटाइन (Quarantine) और मेडिकल हेल्प से जुड़े सभी खर्चे खुद उठाने होंगे. कुछ परिस्थितियों में जिस कंपनी में काम करने के लिए व्यक्ति पहुंचा है उसे यह खर्च देना होगा. यूएई पहुंचते ही सभी लोगों को स्मॉर्ट सर्विस मोबाइल एप को डाउनलोड करना होगा. जिससे क्वारेंटाइन (Quarantine) के दौरान उनकी निगरानी की जा सकेगी. इसके अलावा कोरोना (Corona virus) से जुड़ी हुई हर अपडेट भी उन्हें इस एप के जरिए दी जा सकेगी.

  विकास दुबे के कांड की जांच के लिए यूपी सरकार ने गठित किया विशेष जांच दल

Check Also

हैदराबाद में ऑक्सीजन सिलेंडर ब्लैक करने वाला गिरफ्तार, जमाखोर के घर से 24 ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद

हैदराबाद देश के लोग और सरकार (Government) कोरोना से जूझ रहे हैं वहीं कई लोग …