लगातार बेहतर होने की कोशिश करते रहना ही कोहली का सफलता का मंत्र: पैडी अपटन

नई दिल्ली (New Delhi) . विराट कोहली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लंबा सफर तय किया है. सचिन के साथ खेलने से लेकर दुनिया की नंबर वन टेस्ट टीम के कप्तान तक कोहली अब एक मिसाल बन चुके हैं. लगातार बेहतर होने की कोशिश करना, जीत की भूख और किसी भी गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ रन बनाने की लालसा कोहली को मौजूदा दौर के महान बल्लेबाजों में शामिल करती है.
पैडी अपटन ने कोहली के इस रूपांतरण के बारे में बताया. अपटन ने कहा, मुझे लगता है कि एक टर्निंग पॉइंट वह रहा जब विराट को अहसास हुआ कि थोड़े से ओवरवेट और औसत दर्जे के फिट हैं और अगर उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में शामिल होना है तो उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिट खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल होना होगा. फिटनेस को लेकर उनकी इस बदली सोच ने उन्हें एक बेहद टैलंटेड खिलाड़ी जिसका करियर आराम से चल रहा था, से लेकर, एक बेहद टैलंटेड खिलाड़ी जो अपनी प्रतिभा के साथ पूरा न्याय कर रहा है, तक का सफर तय करवाया.’

  रेलवे की वरिष्ठ अधिकारी कोरोना वायरस से संक्रमित

अपटन ने कहा, कि सिर्फ उनकी फिटनेस ने सीधे तौर पर उन्हें इतना बड़ा खिलाड़ी नहीं बनाया. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह फिटनेस हासिल करने के प्रति उनकी रवैये ने उन्हें और उनके खेल को बदला. यह अच्छे से महान खिलाड़ी बनने का सफर था. कोहली ने 2014 में महेंद्र सिंह धोनी से टेस्ट टीम की कमान ली. इसके बाद 2017 में वह सीमित ओवरों की टीम के कप्तान बने.

  राजस्थान यूनिवर्सिटी ने कुलपति के आवेदन मांगे

Check Also

चीन ने भारत से अपने नागरिकों को वापस बुलाया

नई दिल्‍ली . चीन ने छात्रों, पर्यटकों और उद्योगपतियों सहित सभी नागरिकों को भारत से …