लम्बे अरसे बाद घर जाने की खुशी : बिहार के प्रवासी विद्यार्थियों ने जताया मुख्यमंत्री का आभार


उदयपुर (Udaipur). राज्य सरकार (Government) (State government) के निर्देशानुसार प्रवासी श्रमिकों, विद्यार्थियों एवं उनके परिवारों को उनके घर भेजने का क्रम लगातार जारी है. कोरोना महामारी (Epidemic) के दौरान लॉकडाउन (Lockdown) अवधि के दौरान लम्बे अरसे से अपने घर जाने की खुशी प्रवासियों के चेहरे पर देखते ही बन रही है. शनिवार (Saturday) को उदयपुर (Udaipur) के सिटी रेलवे (Railway)स्टेशन पर बिहार जा रही ट्रेन से अपने गंतव्य को जाने वाले प्रवासी विद्यार्थियों ने राजस्थान सरकार (Government) के प्रयासों की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री (Chief Minister) श्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) का आभार जताया और कहा कि मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने गरीब विद्यार्थियों के बेहतर भविष्य को देखते हुए बहुत बड़ी राहत प्रदान की है. ये सभी प्रवासी विद्यार्थी जिला प्रशासन द्वारा राजस्थान रोडवेज की बसों से चित्तौड़गढ़ स्थित राजस्थान मेवाड़ यूनिवर्सिटी से उदयपुर (Udaipur) रेलवे (Railway)सिटी स्टेशन लाए गए, जिन्हें ट्रेन से घर भेजा गया.

  दिल्ली सरकार शराब की बिक्री-खरीद मौलिक अधिकार नहीं

राज्य सरकार (Government) (State government) के निर्देशन में जिला प्रशासन द्वारा इन सभी विद्यार्थियों को चित्तौड़गढ़ से उदयपुर (Udaipur) लाने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की पालना सुनिश्चित की गई और आवश्यक सुविधाएं प्रदान की गई. तत्पश्चात रेलवे (Railway)स्टेशन पर इन सभी की स्क्रीनिंग करते हुए इन्हें भोजन के पैकेट्स, पानी की बोटल, रेल टिकिट इत्यादि प्रदान किए गए. रेल में भी सोशल डिस्टेंशिंग के आधार पर ही बैठक व्यवस्था निर्धारित की गई.

अभिनय बोला मुसीबत में सरकार (Government) बनी संकटमोचन: इस दौरान बिहार हाजीपुर जाने वाले अभिनय कुमार को रेलवे (Railway)स्टेशन पर घर जाने की निःशुल्क टिकट मिला तो उन्होंने कहा कि यहां की सरकार (Government) ने मुसीबत की इस घड़ी में हमारी मदद की है और हमे चित्तौड़ से उदयपुर (Udaipur) और उदयपुर (Udaipur) से बिहार भेजने के लिए सारी व्यवस्था अपने स्तर पर की है. इसके लिए हम राजस्थान के मुख्यमंत्री (Chief Minister) के शुक्रगुजार है.

  लॉकडाउन से तबाह हुआ पर्यटन, मनोरंजन और होटल सेक्टर, जा सकती है लाखों नौकरियां

अरूण ने कहा-हमारा भविष्य बच गया: मेवाड़ यूनिवर्सिटी में अध्ययनरत बिहार के अरूण जायसवाल ने उदयपुर (Udaipur) सिटी स्टेशन पहुंचने पर कहा कि हम तो सोच रहे थे कि कोरोना आपदा से हमारा भविष्य ही खराब हो जाएगा परंतु राजस्थान सरकार (Government) ने हमारे भविष्य को बचा लिया.  हम घर जाकर अपना अध्ययन जारी रखेंगे. राजस्थान सरकार (Government) ने हम गरीब विद्यार्थियों की परिस्थिति को देखते हुए उन्हें घर पहुंचाने का जो बीड़ा उठाया है वह सराहनीय है. हम यहां की सरकार (Government) के आभारी रहेंगे.

रोशन को रास आई पहली बार निःशुल्क यात्राः बिहार जा रहे मेवाड़ यूनिवर्सिटी के छात्र (student) रोशन कुमार ने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान हम काफी परेशान थे और घर जाने के इच्छुक थे. अब सरकार (Government) के प्रयासों से हम सभी अपने घर जा रहे है और वह भी निःशुल्क. पहली बार हम बिना किसी खर्च के ट्रेन से घर जा रहे हैं. रोशन ने बताया कि उनके लिए भोजन-पानी, टिकिट आदि आवश्यक सुविधाएं प्रदान कर राहत दी है.

  डॉक्टर सुसाइड केस आप विधायक प्रकाश जारवाल ने मांगी जमानत

संशय को किया दूर, अब बिहार नहीं रहा दूर: बिहार जा रहे छात्र (student) प्रकाश कुमार तिवारी ने कहा कि आपदा की घड़ी में हमारा बिहार जाना असंभव सा लग रहा था परंतु सरकार (Government) ने हमारी सभी शंकाओं को दूर किया है. आज हम सभी विद्यार्थी यूनिवर्सिटी से यहां और यहां से अपने घर को जा रहे. यह हमारे लिए खुशी का पल है और यह खुशी दी है हमे राजस्थान की सरकार (Government) ने.

Check Also

उप्र में कोरोना से एक और मरीज की मौत, मरने वालो का आंकड़ा 198 पहुंचा

लखनऊ (Lucknow). उप्र में शुक्रवार (Friday) को एक और रोगी की कोरोना संक्रमण से मौत …