सपा नेता अखिलेश की सुरक्षा के मामले पर यूपी विधानसभा में मचा बवाल, प्रश्नकाल स्थगित


लखनऊ. यूपी विधानसभा में सोमवार को सत्र हंगामेदार रहा. विपक्षी समाजवादी पार्टी ने पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव की सुरक्षा के मुद्दे को लेकर हंगामा मचाया जिसके बाद सदन में प्रशनकाल नहीं हो सका. सोमवार को जैसे ही विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई विपक्ष के नेता रामगोविंद चौधरी ने अखिलेश की सुरक्षा के मुद्दे को उठाया लेकिन जब विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित ने इस पर विचार करने से इंकार कर दिया तो सपा सदस्य सदन में हंगामा करने लगे और प्रश्न काल को बाधित करने लगे. इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही आधे घंटे के लिये स्थगित कर दी. जब सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई तो चौधरी ने अखिलेश की सुरक्षा का मुद्दा फिर उठाया.

  कोरोना लॉकडाउन में जरूरतमंद गरीब परिवारों को राहत, 1000 रुपयों के बाद 1500 रुपये की और मिलेगी सहायता

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस दौरान सदन में मौजूद रहे. विपक्ष के नेता को जवाब देते हुये संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि अखिलेश यादव को जेड प्लस सुरक्षा मिली है जिसके तहत 182 सुरक्षाकर्मी उनकी सुरक्षा में तैनात हैं. जिसमें एक अपर पुलिस अधीक्षक स्तर का अधिकारी, एक पुलिस उपाधीक्षक स्तर का अधिकारी, छह इंस्पेक्टर, 16 सब इंस्पेक्टर के अलावा अन्य पुलिस कर्मी तैनात है. इसके अलावा कोबरा कमांडो जवान भी उनकी सुरक्षा में लगे हैं. उन्होंने कहा कि सामान्यत: जेड प्लस सुरक्षा में 56 सुरक्षाकर्मी होते है लेकिन अखिलेश की सुरक्षा में 182 सुरक्षाकर्मी तैनात हैं. अखिलेश यादव ने हाल में दावा किया था कि उन्हें भाजपा के एक नेता की ओर से धमकी भरा फोन और मैसेज आया था.

  भारत में कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या हुई 3144 , अब तक 91 लोगों की मौत

यादव शनिवार को कन्नौज जिले में सपा के महिला सम्मेलन में पहुंचे थे. जब वह सभा को सम्बोधित कर रहे थे तभी जनता के बीच से गोविन्द शुक्ला नाम के युवक ने अखिलेश से बेरोजगारी पर सवाल किया. इस पर अखिलेश ने उससे पूछा कि तुम किसके आदमी हो? भाजपा के तो नहीं हो? इतना कहने पर शुक्ला ने जय श्री राम का नारा लगाया. तब सपा के कार्यकर्ताओं ने उसकी पिटाई करना शुरू कर दी. तब अखिलेश ने कहा था, एक भाजपा नेता ने मुझे फोन और मैसेज करके जान से मारने की धमकी दी है. मेरी जान को खतरा है. धमकी का मैसेज मोबाइल में सेव है. एक-दो दिन में लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस करूंगा.

  मनमाने दाम पर खाद्य सामग्री बेचने पर चार किराणा दुकानों पर की कार्यवाही करते हुए की सीज

Check Also

क्वारनटीन सेंटर से निकलकर गेहूं पिसवाने पंहुचा युवक तो पुलिस ने पीटा, किया सुसाइड

लखीमपुर. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के फरिया पिपरिया गांव से एक सनसनीखेज मामला …