सब्जी बेचने के लिए मजबूर एथलीट गीता कुमारी, सीएम सोरेन ने की आर्थिक मदद

रांची (Ranchi). झारखंड की एथलीट गीता कुमारी को आर्थिक परेशानियों के कारण रामगढ़ जिले की गलियों में सब्जी बेचने के लिए मजबूर होना पड़ा है. इसके बाद मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन के हस्तक्षेप करने पर गीता को रामगढ़ जिला प्रशासन से 50,000 रुपये और करियर को आगे बढ़ाने के लिए 3,000 रुपये का मासिक वजीफा पाने में मदद मिली. सीएम सोरेन को ट्विटर के जरिए जानकारी मिली कि गीता वित्तीय समस्याओं के कारण सड़क किनारे सब्जी बेचने को मजबूर हैं.

  दिल्ली-एनसीआर की तर्ज पर कोरोना से जंग लड़ें अन्य राज्य : पीएम मोदी

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने रामगढ़ के उपायुक्त को कुमारी की आर्थिक रूप से सहायता करने का निर्देश दिया.आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि रामगढ़ के उपायुक्त (डीसी) संदीप सिंह ने गीता को 50,000 रुपये का चेक देकर एथलीट को 3,000 रुपये मासिक वजीफा देने की भी घोषणा की. खेल की दुनिया में गीता की सफलता की कामना करते हुए उपायुक्त ने कहा, ‘रामगढ़ में कई खिलाड़ी हैं जो देश के लिए सफलता हासिल करने में सक्षम हैं, और प्रशासन यह सुनिश्चित करेगा कि उन्हें समर्थन मिले. गीता के चचेरे भाई ने कहा,उनका परिवार आर्थिक रूप से कमजोर है और अब प्रशासन की मदद मिलने से वह खुश हैं. गीता ने राज्य स्तर पर चलने वाली प्रतियोगिताओं में आठ गोल्ड मेडल हासिल किए हैं. उन्होंने कोलकाता (Kolkata) में आयोजित प्रतियोगिताओं में एक सिल्वर और एक ब्रॉन्ज मेडल जीता था.

  यूपी में कोरेाना संक्रमण के 1403 नये प्रकरण, मृतकों का आंकडा पहुंचा 913

Check Also

हैदराबाद में ऑक्सीजन सिलेंडर ब्लैक करने वाला गिरफ्तार, जमाखोर के घर से 24 ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद

हैदराबाद देश के लोग और सरकार (Government) कोरोना से जूझ रहे हैं वहीं कई लोग …