सिडनी में 42 साल के जीत के सूखे को समाप्त करने उतरेगी टीम इंडिया

भारतीय समयानुसार सुबह पांच बजे शुरू होगा मैच

सिडनी . मेलबर्न में मिली जीत से उत्साहित टीम इंडिया गुरुवार (Thursday) को यहां मेजबान ऑस्ट्रेलिया के साथ शुरु होने वाले तीसरे क्रिकेट टेस्ट मैच को जीतकर सीरीज में बढ़त दर्ज करने उतरेगी. चार टेस्ट मैचों की यह सीरीज अभी 1- 1 से बराबरी पर है. मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने एडीलेड में पहला टेस्ट जीता था पर इसके बाद भारतीय टीम ने दूसरा टेस्ट जीतकर शानदार वापसी की है. टीम इंडिया के कप्तान आजिंक्य रहाणे शानदार फार्म में हैं और दूसरे टेस्ट में उन्होंने जिस प्रकार शानदार कप्तानी की थी उस सिलसिले को वह इस बार भी बरकरार रखना चाहेंगे. सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की वापसी से भी टीम की बल्लेबाजी मजबूत होगी. रोहित को उपकप्तानी की जिम्मेदारी भी दी गयी है. ऐसे में वह शानदार प्रदर्शन कर अपने चयन को सही साबित करना चाहेंगे. रोहित को फिट नहीं होने के कारण पहले दोनो टेस्ट के लिए शामिल नहीं किया गया था. उन्हें तीसरे टेस्ट के लिए उन्हें मयंक अग्रवाल की जगह शामिल किया गया है. मयंक ने पहले दोनो मैच में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था, ऐसे में उन्हें हटाया जाना तय नजर आ रहा था. वहीं गेंदबाजी की बात करें तो वहीं तेज गेंदबाज उमेश यादव की जगह नवदीप सैनी को शामिल किया गया है. नवदीप इस मैच से अपना टेस्ट पदार्पण करेंगे. उमेश यादव चोटिल होने के कारण सीरीज से ही बाहर हो गये हैं. नवदीप के पास अब इस मैच में अपनी प्रतिभा दिखाने का अच्छा अवसर है. भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन इस सीरीज में अब तक अच्छा रहा है और उन्होंने कंगारुओं को खुलकर खेलने का अवसर नहीं दिया है. गेंदबाजी की कमान जसप्रीत बुमराज के पास रहेगी वहीं स्पिन की जिम्मेदारी रविन्द्र जडेजा और अनुभवी आर अश्विन पर रहेगी.

  10 फीसदी से भी कम को मिलीं दोनों डोज, जुलाई तक 30 करोड़ का टीकाकरण मुश्किल 10 फीसदी से भी कम को मिलीं दोनों डोज, जुलाई तक 30 करोड़ का टीकाकरण मुश्किल

रहाणे अगर इस सीरीज में टीम इंडिया को जीत दिलाने में सफल रहते हैं तो वह 42 साल बाद इस मैदान पर टीम इंडिया को जीत दिलाने वाले पहले कप्तान बन जायेंगे. इससे पहले साल 1978 में बिशन सिंह बेदी की कप्तानी में टीम इंडिया ने यहां जीत दर्ज की थी. ऐडिलेड में मिली करारी हार के बाद जिस तरह भारतीय टीम ने मेलबर्न में वापसी की उससे मेजबान टीम भी दबाव में है.

वहीं आंकड़ों पर गौर करें तो सिडनी में भारतीय टीम का रेकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं है. मेजबान टीम का रेकॉर्ड इस मैदान पर भारत के खिलाफ बहुत अच्छा है. अपने पिछले दौरे में भारतीय टीम ने ऋषभ पंत के शतक की सहायता से 7 विकेट पर 622 रन बनाए थे. इसके बाद कुलदीप यादव ने पांच विकेट लेकर भारतीय टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया था हालांकि तब बारिश के कारण भारतीय टीम जीत दर्ज नहीं कर पायी थी औार मैच ड्रॉ रहा. भारतीय टीम इस बार भी पिछली बार जैसा प्रदर्शन करना चाहेगी. सिडनी में इस प्रकार का रहा है भारतीय टीम का प्रदर्शन.
भारतीय टीम ने सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर अपनी एकमात्र जीत 1978 को हासिल की थी. अब रहाणे की कप्तानी वाली टीम इस मैदान पर एक और जीत दर्ज करना चाहेगी.

  पानी में घोल कर पी जाने वाली कोरोनारोधी दवा को मंजूरी

भारतीय टीम ने इस मैदान पर 12 टेस्ट मैच खेले हैं और केवल एक मैच जीता है. इस ऐतिहासिक मैदान पर दोनों टीमों के बीच हुए मुकाबलों में पांच मैचों में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराया है जबकि छह मैच ड्रॉ रहे हैं.
इस मैदान पर भारत के सबसे सफल् बल्लेबाजों में सचिन तेंडुलकर सबसे आगे हैं. सचिन ने इस मैदान पर 785 रन बनाए हैं. इसमें तीन शतक और दो अर्धशतक शामिल हैं. दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले ने भारत की ओर से इस मैदान पर टेस्ट क्रिकेट में 20 विकेट लिए हैं.
तीसरे मैच के लिए टीम इंडिया ने अपने अंतिम ग्यारह खिलाड़ियों की घोषणा कर दी है. टीम में मयंक की जगह रोहित को शामिल किया गया है. इसके अलावा नवदीप अपना डेब्यू करेंगे. युवा बल्लेबाज मयंक को पहले दोनो मैचों में खराब प्रदर्शन के कारण बाहर कर दिया गया है. रोहित को अंतिम ग्यारह में शामिल करने के साथ ही बाकी दोनो मैचों के लिए उपकप्तान बनाया गया है. वहीं तेज गेंदबाज सैनी अपने टेस्ट करियर की शुरुआत करेंगे.

  रेलवे के 1952 कर्मचारी कोरोना से गंवा चुके जान

वहीं दूसरी और मेजबान टीम भी इस मैच में जीत के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी. सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर की वापसी से टीम की बल्लेबाजी बेहतर होगी. इसके अलावा उसके पास कप्तान टिम पेन और मार्नस लाबुशेन जैसे बल्लेबाज हैं. तेज गेंदबाजी में टीम के पास मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और पैट कमिंस जबकि स्पिनर के तौर पर अनुभवी नाथन लियोन हैं.
टीम इंडिया इस प्रकार है. अजिंक्य रहाणे (कप्तान), रोहित शर्मा (उपकप्तान), शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और नवदीप सैनी.
आस्ट्रेलिया : डेविड वार्नर, मैथ्यू वेड, विल पुकोवस्की, मार्नस लाबुशेन, स्टीव स्मिथ, ट्रैविस हेड, कैमरन ग्रीन, टिम पेन (कप्तान और विकेटकीपर), नाथन लियोन, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड, मार्कस हैरिस, मिशेल स्वेपसन, माइकल नेसर.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *