सितंबर में छह प्रतिशत बढ़कर 27.58 अरब डॉलर पर पहुंचा निर्यात

नई ‎दिल्ली. देश के निर्यात में सितंबर में बढ़ोतरी दर्ज हुई है. इससे पहले लगातार छह माह तक निर्यात का आंकड़ा नीचे आया था. सरकार (Government) द्वारा जारी ‎किए गए आंकड़ों :के अनुसार सितंबर में निर्यात सालाना आधार पर 5.99 प्रतिशत बढ़कर 27.58 अरब डॉलर (Dollar) पर पहुंच गया. मुख्य रूप से दवाओं, फार्मास्युटिकल्स सामान तथा सिलेसिलाए परिधानों से कुल निर्यात बढ़ा है. सितंबर, 2019 में कुल निर्यात 26.02 अरब डॉलर (Dollar) रहा था. वहीं समीक्षाधीन महीने में देश का आयात 19.6 प्रतिशत घटकर 30.31 अरब डॉलर (Dollar) रह गया.

हालांकि एक साल पहले इसी महीने में यह 37.69 अरब डॉलर (Dollar) रहा था. सितंबर में व्यापार घाटा कम होकर 2.72 अरब डॉलर (Dollar) रह गया जबकि एक साल पहले इसी महीने में यह 11.67 अरब डॉलर (Dollar) रहा था. समीक्षाधीन महीने में सोने के आयात में करीब 53 प्रतिशत की गिरावट आई और यह 60.14 करोड़ डॉलर (Dollar) रह गया. चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही अप्रैल-सितंबर के दौरान हुये निर्यात की बात की जाए तो इस दौरान इसमें 16.66 प्रतिशत की गिरावट आई और यह 221.86 अरब डॉलर (Dollar) रहा है. वहीं इस दौरान आयात 35.43 प्रतिशत घटकर 204.12 अरब डॉलर (Dollar) रह गया. आंकड़ों के अनुसार सितंबर में लौह अयस्क का निर्यात 109.65 प्रतिशत बढ़कर 30.34 करोड़ डॉलर (Dollar), रेडमेड परिधानों का निर्यात 10.22 प्रतिशत बढ़कर 1.19 अरब डॉलर (Dollar) और चावल का निर्यात 93.86 प्रतिशत बढ़कर 72.51 करोड़ डॉलर (Dollar) पर पहुंच गया. इसी तरह दवाओं और औषधियों का निर्यात 24.38 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 2.24 अरब डॉलर (Dollar) रहा. हालांकि, इस दौरान रत्न एवं आभूषणों के निर्यात में 24.67 प्रतिशत की गिरावट रही. वहीं अभ्रक, कोयला और अन्य अयस्कों, खनिजों के निर्यात में 6.71 प्रतिशत की गिरावट आई.

  पैसे का इस्तेमाल उचित शिक्षा और बेहतर करियर पाने में किया: पीएम मोदी

सितंबर में गैर-पेट्रोलियम और गैर-रत्न एवं आभूषण निर्यात 11.94 प्रतिशत बढ़कर 21.27 अरब डॉलर (Dollar) पर पहुंच गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 19 अरब डॉलर (Dollar) रहा था. वहीं समीक्षाधीन महीने में कच्चे तेल का आयात 35.88 प्रतिशत घटकर 5.83 अरब डॉलर (Dollar) रह गया. जबकि पहली छमाही में कच्चे तेल का आयात 51.14 प्रतिशत घटकर 31.86 अरब डॉलर (Dollar) रहा है. बयान में कहा गया है. विश्वबैंक (Bank) से उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार वैश्विक ब्रेंट का दाम (डॉलर (Dollar)/बीबीएल) सितंबर, 2020 में सितंबर, 2019 की तुलना में 34.08 प्रतिशत घटा है. वस्तुओं और सेवाओं दोनों को साथ जोड़ने के बाद अप्रैल-सितंबर के दौरान भारत का व्यापार अधिशेष 17.74 अरब डॉलर (Dollar) रहा है, जबकि एक साल पहले की इसी अवधि में 49.91 अरब डॉलर (Dollar) का व्यापार घाटा हुआ था. आंकड़ों के अनुसार सितंबर में सेवाओं का निर्यात 16.34 अरब डॉलर (Dollar) और आयात 9.49 अरब डॉलर (Dollar) रहा है. कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) की वजह से वैश्विक मांग में गिरावट के चलते इस साल मार्च से भारत के निर्यात में लगातार गिरावट आ रही थी.

  14 गांव के आदिवासी घर में कोरन्टाइन होकर पीएम मोदी का करेंगे विरोध

 

Check Also

शराब पीने के मामले में असम की महिलाएं अव्वल, तंबाकू के सेवन में बंगाल सबसे ऊपर

नई दिल्‍ली. भारत में शराब पीने के मामले में असम की महिलाएं बाकी राज्‍यों की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *