सीएमएचओ डेह‎रिया को अचानक हटाने पर उठ रहे सवाल

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश के मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने सप्ताह भर पहले ही कोरोना संकट में भोपाल (Bhopal) के तत्कालीन मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमएचओ) सुधीर डेहरिया की सेवाओं को देखते हुए उन्हें कर्मठ और समर्पित अधिकारी बताकर सैल्यूट किया था, उनका अचानक तबादला हो जाने से कई तरह के सवाल उठने लगे हैं. डेहरिया को अचानक हटाकर सीहोर भेज दिया गया है. सीएम ने डेहरिया की प्रशंसा करते हुए कहा था कि हमें आप पर गर्व है, लेकिन बुधवार (Wednesday) को एकाएक डॉ. डेहरिया को हटाए जाने के निर्णय पर सवाल उठने लगे हैं. बताया जाता है कि भोपाल (Bhopal) में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने को लेकर वरिष्ठ स्तर पर समीक्षा के बाद यह पाया गया कि स्वास्थ्य विभाग में अपेक्षित सतर्कता का ध्यान नहीं रखा जा रहा. स्वास्थ्य विभाग के कई कर्मचारी इस समय कोरोना की चपेट में हैं. विभाग ने इस दौरान जरूरी सुरक्षात्मक उपाय अपनाने में ढील बरती और समुचित स्क्रीनिंग भी नहीं की जा रही.

  उदयपुर से बसों द्वारा कोटा गये छत्तीसगढ़ के 350 प्रवासी, वहां से रेल द्वारा जाएंगे छत्तीसगढ़

डेहरिया की हुई थी कई स्तर पर शिकायत: एक दिन पूर्व ही अतिरिक्त मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान को स्वास्थ्य विभाग की कमान सौंपी गई है. उनके साथ ही स्वास्थ्य संचालक बतौर सुदाम खाडे की पदस्थापना के आदेश जारी किए गए हैं. इस बीच जब नए सिरे से भोपाल (Bhopal) की समीक्षा की गई तो डॉ. डेहरिया को हटाने का फैसला कर दिया गया. यह भी बताया गया कि डॉ. डेहरिया को लेकर कई स्तर पर शिकायतें की गई कि वे कोरोना नियंत्रण पर कम ध्यान दे रहे हैं, जबकि प्रचार-प्रसार पर उनका ज्यादा फोकस है. डॉ. डेहरिया उस वक्त सुर्खियों में आए थे, जब कोरोना संक्रमण के चलते वह लगातार पांच दिन की ड्यूटी के बाद थोड़ी देर के लिए अपने घर पहुंचे थे. 30 मार्च को घर के बाहर चबूतरे पर बैठकर उन्होंने अपने परिजनों से मुलाकात की और चाय पीकर वापस ड्यूटी पर लौट आए थे.

  महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

डॉ. डेहरिया की यह फोटो जमकर वायरल हुई और उन्हें लोगों की तारीफ भी मिली. मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने भी 31 मार्च को डॉ. डेहरिया के इस फोटो को अपने टि्वटर पर टैग कर उन्हें ‘कोरोना वॉरियर” बताते हुए शत-शत नमन किया और गर्व भी जताया था. उल्लेखनीय है कि एक सप्ताह पहले भी डेहरिया को सीएमएचओ पद से हटाकर जेपी अस्पताल में बतौर विशेषज्ञ पदस्थ कर दिया गया था, लेकिन बाद में एक प्रशासनिक अधिकारी के कहने पर छह घंटे के भीतर ही उन्हें वापस सीएमएचओ बना दिया गया था. बुधवार (Wednesday) को एकाएक डॉ. डेहरिया को हटाए जाने के निर्णय पर सभी को आश्चर्य हुआ. उन्हें इसी पद पर सीहोर भेजा गया है. सीहोर के डॉ. प्रभाकर तिवारी को भोपाल (Bhopal) का नया सीएमएचओ बनाया गया है.

  महाराष्‍ट्र को गाड़ियों की पेशकश की लेकिन वे कोई विवरण नहीं दे पाए : पीयूष गोयल

Check Also

दिल्ली में कोरोना के करीब 7000 मरीज हुए ठीक अब तक 288 की गई जान

नई दिल्ली (New Delhi). दिल्ली में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 (Kovid-19) से 12 …