स्टीव एक साल तक बैन, फिर भी विराट से आगे, नंबर 1 बल्लेबाज बनने के लिए अपनाई ये रणनीति


नई दिल्ली (New Delhi) . ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को आउट करना आज बेहद ही मुश्किल नजर आता है और इसकी वजह है उनका अजीबोगरीब बल्लेबाजी स्टांस. स्टीव स्मिथ ने अपने बल्लेबाजी स्टांस पर खुलासा किया है कि वह आउट होने के तरीकों को सीमित करने के लिये आम तौर पर ऑफ स्टंप की लाइन में या उससे बाहर खड़े होते हैं. विश्व के नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज स्मिथ ने अभी तक 73 टेस्ट मैचों में 7227 रन बनाये हैं. इसके अलावा उनके नाम पर 4162 वनडे रन भी दर्ज है. उनकी बल्लेबाजी की तकनीक अपरंपरागत है जिसको समझने में अधिकतर नाकाम रहे हैं. गत दिनों स्मिथ ने न्यूजीलैंड के स्पिनर ईश सोढ़ी के सामने अपनी तकनीक को लेकर खुलकर बात की. अपने बल्लेबाजी स्टांस (बल्लेबाज के खड़े होने का तरीका) के बारे में स्मिथ ने कहा, ‘यह इस पर निर्भर करता है कि कौन गेंदबाजी कर रहा है, विकेट कैसा है, मुझे किस तरह से रन बनाने हैं और गेंदबाज मुझे किस तरह से आउट करना चाहते हैं. इससे मैं तय करता हूं कि मुझे अपना स्टांस कैसे रखना है.’

  दिल्ली मेट्रो में किस तरह होगा सफर डीएमआरसी ने दिखाई तस्वीर

उन्होंने कहा, ‘लेकिन मैं अमूमन ऐसा स्टांस लेता हूं जहां मेरा बैकफुट आफ स्टंप की लाइन में होता है और कुछ अवसरों पर तो उससे भी बाहर. इससे मैं जानता हूं कि कोई भी गेंद जो मेरी नजर से बाहर की तरफ जा रही हो, वह मेरे स्टंप पर नहीं लगेगी.’ स्मिथ ने कहा, ‘मेरा मानना है कि अगर गेंद स्टंप की सीध में नहीं हो तो आपको आउट नहीं होना चाहिए. जब मैंने ऐसा स्टांस लेना शुरू किया तो यह मेरी एक चाल थी. यह आउट होने के तरीकों को सीमित करने के लिये था.’ बता दें स्टीव स्मिथ पर गेंद से छेड़छाड़ कांड में दोषी पाए जाने के बाद एक साल क्रिकेट नहीं खेल सके थे. उनपर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने एक साल का बैन लगा दिया था लेकिन इसके बावजूद स्मिथ आज दुनिया के नंबर 1 बल्लेबाज हैं. बीच में उनकी जगह विराट कोहली ने ले ली थी लेकिन स्मिथ ने एशेज में 3 शतक और 3 अर्धशतकों की मदद से 774 रन ठोक डाले थे.

  भारतीय रेल तेज रफ्तार पकड़ने की तैयारी में

हालांकि न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के खिलाफ स्मिथ का बल्ला खामोश रहा. इसी बीच विराट कोहली का बल्ला नहीं चला और स्मिथ फिर नंबर 1 बल्लेबाज बन गए हैं. स्टीव स्मिथ ने कहा कि ऑफ स्टंप का स्टांस लेने से उन्हें बाहर जाने वाली गेंदों को छोड़ने में मदद मिलती है. उन्होंने कहा, ‘कई बार मैं विकेटों के आगे एलबीडब्ल्यू आउट हो जाता हूं, लेकिन मुझे यह मंजूर है क्योंकि मैं जानता हूं कि अगर यह मेरी नजर की सीध से बाहर की तरफ जा रही होती तो फिर मुझे इसे खेलने की जरूरत नहीं पड़ती. मैं इसे केवल छोड़ सकता था.’

  दिल्ली कोविड-19 समर्पित सिग्नस ऑर्थोकेयर अस्पताल में लगी आग

Check Also

चीन ने भारत से अपने नागरिकों को वापस बुलाया

नई दिल्‍ली . चीन ने छात्रों, पर्यटकों और उद्योगपतियों सहित सभी नागरिकों को भारत से …