Tuesday , 11 December 2018
Breaking News

63 साल के डॉक्टर पर यौन शोषण का आरोप, मुकदमा दर्ज

लखनऊ, 13 अक्टूबर (उदयपुर किरण). दिल्ली के बाद ‘मी टू का नया मामला लखनऊ में भी देखने को मिला है. आरोप है कि पहले से दो शादियां कर चुके 63 वर्षीय प्रतिष्ठित न्यूरो सर्जन डाॅॅ. रवि देव ने 26 साल की युवती को अपना हवस का शिकार बनाया. अब युवती जब ढाई साल के बच्चे की मां हो गयी तो डॉक्टर उसे अपना नहीं रहा है. पीड़ित युवती ने सामाजिक संगठन से सहयोग लेकर डॉक्टर को सजा दिलाने के लिए शनिवार को महानगर थाने पहुंची और मुकदमा दर्ज कराया है.

युवती ने पुलिस को बताया कि चार साल पहले उसके सिर में अचानक दर्द उठा और वह परिवार के साथ प्रतिष्ठित डॉ. रवि देव के क्लीनिक पर पहुंची. डॉक्टर परिवार के थे, इसलिए घरवालें उसे अकेले भी डाॅक्टर के क्लीनिक में जाने देते थे. आरोप है कि डॉक्टर ने इलाज के बहाने उससे नजदीकियां बना ली. दवा में वह उसे नशीली गोलिया देने लगा. इसी दौरान डॉक्टर ने अपने ही कमरे में ले जाकर उसकी अश्लील फोटो खींच ली. इसके बाद डॉक्टर ने पहले अपने आॅफिस में नौकरी दी और अश्लील हकरते करने लगा. जब उसने इसका विरोध किया तो खींची गई अश्लील फोटो को सोशल मीडिया में वायरल करने का दबाव बनाया.

इस पर भी जब वह नहीं मानी तो डॉक्टर ने शादी का झांसा देकर उसके साथ चार साल तक यौन शोषण कर रहा. इसी बीच युवती गर्भवती हो गई और बच्चे को जन्म दिया. इस बात की जानकारी जब उसके घरवालों को हुई तो परिवार ने घर से भगा दिया. घर से निकाले जाने के बाद वह डॉक्टर के साथ ही रहने लगी. जबकि डॉक्टर की उम्र 63 वर्ष और इससे पहले उसकी दो पत्नियां हैं. उसके उम्र का डॉक्टर के एक बेटा भी है. लेकिन हालातों के साथ समझौता करके वह अपने ढाई साल के बच्चे के साथ डॉक्टर के साथ रहने लगी. आरोप है कि इतने वर्ष बीतने के बावजूद डॉक्टर उसके साथ मारपीट करता है, उसे पत्नी का दर्जा नहीं देता है. प्रताड़ना से आजिज होकर पीड़ित युवती ने सामजिक संगठन पावर विंग से सम्पर्क कर न्याय की गुहार लगाई है. इसके बाद संगठन ने डॉक्टर के खिलाफ थाने में तहरीर दी है. थाना प्रभारी विकास कुमार पाण्डेय ने बताया कि युवती की तहरीर के अाधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*