Thursday , 22 November 2018
Breaking News

बंदियों का डाटा आॅनलाइन करने में गुरुग्राम की भोंडसी जेल अव्वल

गुरुग्राम, 10 नवम्बर (उदयपुर किरण). भारत के सुप्रीम कोर्ट ने साइबर सिटी गुरुग्राम की भोंडसी जेल की सराहना की है. भोंडसी जेल में बंद कैदियों का आॅनलाइन डाटा देखकर गदगद हुए न्यायाधीश ने कहा कि अब देश की सभी जेलों में कैदियों का डाटा आॅनलाइन होना चाहिए.
शनिवार को जेल के अधीक्षक जयकिशन छिल्लर ने बताया कि अब पूरे देश की जेलों के अधिकारी गुरुगाम में आकर आॅनलाइन प्रणाली की ट्रेनिंग लेंगे.
कैदियों का डाॅटा आॅनलाइन करने में साइबर सिटी अव्वल
जेल अधीक्षक जयकिशन छिल्लर ने बताया कि अब प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश में पहली बार सरकारी कामकाज से लेकर बंदियों का डाटा आॅनलाइन करने में गुरुग्राम की जेल अव्वल आई है. सुप्रीम कोर्ट ने भी जेल के कामकाज को लेकर पीठ थपथपाई है. हाल ही में गुरूग्राम जेल से बंदी की माननीय सुप्रीम कोर्ट में पेशी दी. पेशी के दौरान बंदी का सारा डाटा अदालत में आॅनलाइन तरीके से पेश किया गया.
सुप्रीम कोर्ट ने सभी जेलों को डाटा आॅनलाइन करने के आदेश
अदालत ने गुरुग्राम ही नहीं हरियाणा की तमाम जेलों में शुरू की गई आॅनलाइन प्रणाली को देश की अन्य राज्यों को लागू करने के आदेश जारी कर दिए हैं. बहुत ही जल्द अन्य राज्यों की सरकाराें के जेल अधिकारी हरियाणा की जेलों के दौरा कर सकते हैं. जो जेलों में अपनाई गई आॅनलाइन प्रणाली की ट्रेनिंग ले सकेगें.

बंदियों को दिया जाएगा कम्प्यूटर का प्रशिक्षण
जेल में बंद कैदियों को शिक्षित करने पर जोर दिया जाएगा. पढ़े-लिखे कैदियों को कंप्यूटर शिक्षा दी जाएगी. जो बंदी शिक्षित हैं और वह कंप्यूटर सिखना चाहते हैं, उन्हें इस कार्य का प्रशिक्षण दिया जाएगा. उनका मानना है कि बंदी ट्रेनिंग लेने के बाद जब जेल से बाहर जाएगा तो वह अपनी रोजी-रोटी कमा सकेगा.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*