Thursday , 22 November 2018
Breaking News

दावेदारों का जयपुर-दिल्ली में डेरा, पहली सूची का इंतजार

उदयपुर, 10 नवम्बर (उदयपुर किरण). दीपावली के दो दिन बाद भी राजस्थान में किसी भी राजनीतिक दल ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं. देरी से एक तरफ जहां दावेदारों के सब्र का बांध टूटता जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ शीघ्र दोनों ही दलों के आला कमान से प्रत्याशियों की सूची जारी होने की सूचना दावेदारों की बैचेनी को भी बढ़ा रही है. ऐसे में आगामी दो दिन दावेदारों के निकालने मुश्किल होते जा रहे हैं. दावेदार अपने टिकट के लिए अपने आकाओं के साथ जयपुर व दिल्ली में आला-कमान के आस-पास डेरा डाले हुए हैं. टिकटों पर दिल्ली में जारी मंथन के बावजूद कांग्रेस और भाजपा दोनों मुख्य दलों के जयपुर स्थित प्रदेश मुख्यालयों में दावेदारों की भीड़ बनी हुई है.

चुनाव आयोग की ओर से राजस्थान, मध्यप्रदेश सहित अन्य राज्यों में चुनाव को लेकर आचार संहिता की घोषणा एक साथ की थी. इसे करीब एक माह का समय हो गया है. मध्यप्रदेश में चुनाव प्रक्रिया व मतदान पहले हैं. ऐसे में वहां राजनीतिक दलों ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है. लेकिन पड़ोसी राज्य राजस्थान में किसी भी दल ने अभी तक पहली सूची भी जारी नहीं की है. लोकसभा चुनावों से पहले यह विधानसभा चुनाव दोनों ही दलों के लिए किसी सेमीफाइनल से कम नहीं है. ऐसे में दोनों ही राजनीतिक दल किसी प्रकार की रिस्क नहीं लेना चाहते. यही कारण है कि दोनों ही दल किसी प्रकार जल्दबाजी नहीं दिखा रहे हैं. लेकिन जैसे-जैसे चुनाव प्रक्रिया शुरू होने की तिथि नजदीक आ रही है वैसे-वैसे प्रत्याशियों के साथ ही कार्यकर्ताओं की बैचेनी बढ़ती जा रही है. राजस्थान के प्रत्याशियों की सूची को अंतिम रूप देने के लिए भाजपा के आलानेताओं की बैठक दिल्ली में चल रही है. वहीं कांग्रेस में रविवार को भी केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक होनी है. इसके बाद ही दोनों ही दल अपने प्रत्याशियों की सूची घोषित कर सकते हैं.

चर्चा ये कि कब आएगी सूचीः सोशल मीडिया के इस दौर में टिकट वितरण को लेकर कयास ही लगाए जा रहे हैं. लेकिन अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ कि पहली सूची कब आएगी व कौनसे राजनीतिक दल पहले टिकट जारी करेगा. लेकिन नामांकन प्रक्रिया शुरू होने के दिन नजदीक है. ऐसे में संभावना है कि आगामी एक या दो दिन में भाजपा अथवा कांग्रेस दोनों में से किसी ना किसी दल की सूची आ सकती है. इससे कि 12 नवम्बर से शुरू हो रही नामांकन प्रक्रिया में प्रत्याशी अपने नामांकन दाखिल कर प्रचार में जुटे.

जानकारी में सामने आया कि दोनों ही दलों से संभावित दावेदार भी टिकट की लड़ाई को अंतिम दौर में लेकर चल रहे हैं. ऐसे में सभी टिकट पाने के लिए सूची जारी होने से पहले जोर लगा रहे हैं. इसके चलते चित्तौडग़ढ़ जिले से भाजपा व कांग्रेस दोनों ही दलों से कई दावेदार जयपुर व दिल्ली में डेरा डाले बैठे हैं. इससे कि वे टिकट को लेकर मशक्कत कर सके. अब तो यह आने वाला समय ही बताएगा कि दोनों ही राजनीतिक दलों के आला कमान किस पर विश्वास जताएंगे.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*