Monday , 17 December 2018
Breaking News

रामकथा पार्क: 15 हजार लोगों के बैठने की होगी सुविधा, विदेशी मेहमानों के लिए विशेष व्यवस्था

अयोध्या, 08 दिसम्बर (उदयपुर किरण). योगी सरकार में रामकथा पार्क के दिन बहुरने वाले हैं, अब इसकी चमक स्टेडियम की तरह आकर्षक विश्व स्तरीय बनाई जाएगी. प्रदेश सरकार के तीसरे दीपोत्सव समारोह स्थल पर में 7.59 करोड़ रुपये खर्च कर 15 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था हो जाएगी. श्रीराम की नगरी अयोध्या की धार्मिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सरयू तट के समीप बनाए गए रामकथा पार्क भी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र होगा.

दीपोत्सव में कोरिया गणराज्य की प्रथम महिला किम जोंग सुक के साथ आये कोरियाई दल को इसी स्थान पर समारोह में बैठने की व्यवस्था की गई थी. अब विदेशी मेहमानों के बैठने की भी व्यवस्था का ध्यान रखकर इसे उच्चकोटि का बनाने की योजना है. दीपोत्सव के दूसरे दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद रामकथा पार्क के विस्तारीकरण एवं सुंदरीकरण की कार्ययोजना तैयार हो चुकी है. राम कथा पार्क के इस पूरे कार्य में 7.59 करोड़ रुपये खर्च होने हैं. जनवरी माह में इस पर काम भी शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है.

नव निर्मित होने के बाद रामकथा पार्क की क्षमता बढ़कर 15 हजार हो जाएगी. पार्क में बने मंच को भी तोड़कर आकर्षक बनाने की योजना है. पार्क में बैठने की व्यवस्था स्टेडियम की तरह गोलाकार सीढ़ीनुमा पटरी जैसी होगी. अयोध्या में रामकथा पार्क का उद्घाटन 1999 में तत्कालीन भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने किया था. रामकथा पार्क वर्ष भर में केवल एक बार राम विवाह के समय सरकारी मद से होने वाले रामायण मेले के दौरान ही गुलजार होता था. शेष दिनों में यहां ताला लटकता रहता था. योगी सरकार ने वर्ष 2017 में यहां दीपोत्सव समारोह के सभा स्थल बनाया. इसके बाद से राम कथा पार्क के निर्माण का काम शुरू हुआ. इस वर्ष दीपोत्सव में रामराज्याभिषेक समारोह के दौरान रामकथा पार्क की क्षमता से अधिक श्रद्धालु पहुंच गए थे. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कार्यक्रम में मौजूद थे.

दीपोत्सव की अगली सुबह मुख्यमंत्री ने रामकथा पार्क पहुंचकर इसके विस्तारीकरण का निर्देश दिया था. करीब पांच हजार क्षमता वाले रामकथा पार्क को अब 15 हजार लोगों के बैठने लायक बनाया जाएगा. रामकथा पार्क की व्यवस्था निर्माण होने के बाद पहले विकास प्राधिकरण के पास उसके बाद नगर पालिका अयोध्या और अब नगर निगम अयोध्या के अधीन है. पार्क में बने मंच को भी भव्यता प्रदान कर इसे बड़ा रूप दिया जाएगा. मंच को हाईटेक बनाने के लिए विभिन्न तरीकों का प्रयोग किया जाएगा.

फिलहाल रामकथा पार्क की क्षमता पांच हजार है और बैठने के लिए बनाई गई सीढ़ियां भी दूर अव्यवस्थित हैं जिसका उपयोग नहीं हो था. अब पूरे पार्क को स्टेडियम रूप में ढालकर सिटिंग व्यवस्था बेहतर की जाएगी. रामकथा पार्क के चारों तरफ रामायण कालीन प्रसंग भी अंकित किए जाएंगे. जो राम की गाथा सजीव बयां करते दिखाई देंगे. पूरे पार्क की प्रकाश व्यवस्था को स्टेडियम के रूप में बेहतर करने के लिए एलईडी लाइट लगाई जाएंगी. पार्क में समारोह में प्रवेश के करने के लिए अभी मात्र तीन द्वार हैं. भीड़ के दबाव को देखते हुए चार अन्य गेट बनाने की योजना बनाई जा रही है.

हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में शनिवार को अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने बताया कि रामकथा पार्क की क्षमता बढ़कर अब 15 हजार की योजना बनाई है. अयोध्या की गरिमा की भांति पार्क को रामायणकालीन प्रसंगों से सजाया जाएगा. संपूर्ण पार्क एलईडी रोशनी से जगमगाएगा, पार्क को स्टेडियम का रूप देने की कवायद तेज हो गई है. कार्य की शुरुआत के लिए डीपीआर बनाकर शासन को भेजा चुका है. अगले एक माह के भीतर काम शुरू हो जाएगा.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*