Friday , 14 December 2018
Breaking News

नौजवानों से अधिकारियों ने सैन्य जीवन के तजुर्बे किए साझा

बहादुर जंगी सैनिकों एवं योद्धाओं ने अपने बहादुरी के किस्से-कहानियों से नौजवानों का मन मोहा

चंडीगढ़, 08 दिसम्बर (उदयपुर किरण). मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल-2018 में पहले दिन दूर-दराज के ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों के साथ सेना के सीनियर और अनुभवी अधिकारियों ने अपने युद्ध के बहादुरी और निडरता के किस्से साझा किए. इन किस्सों ने उपस्थित नौवजवानों का मन मोह लिया. क्लेरियन थियेटर में लोगों के बड़े जलसे मुख्य तौर पर नौजवानों के साथ सैन्य अधिकारियों की तरफ से ऑडियो-विजुअल के ज़रिए अपने सैन्य जीवन के तजुर्बे भी साझा किए गए.

इस अवसर पर सारागड़ी संवाद के दौरान सूबेदार मेजर, जोगिन्द्र सिंह यादव, परमवीर चक्र, कर्नल एचएस काहलों, वीर चक्र, कर्नल बलवान सिंह, एमवीसी, कर्नल जीएस बाजवा और शस्त्रबलों के अन्य सीनियर अधिकारियों ने विद्यार्थियों के साथ बातचीत भी की. एक स्थानीय स्कूल के विद्यार्थी अमरपाल सिंह ने कहा कि वह जवानों के असली जीवन के बारे जानकर हैरान रह गया. उन्होंने बताया कि परमवीर चक्र पुरस्कार विजेता सूबेदार मेजर योगिन्दर सिंह यादव के साथ बातचीत में उसे भारतीय सेना ख़ासतौर पर कारगिल जंग के बारे में बहुत सी रोचक बातों के बारे में पता चला. वह इस बात से बेहद प्रभावित था कि कारगिल जंग में 17 गोलियां लगने के बाद भी सूबेदार मेजर योगिन्दर अब भी इतने सक्रिय और चुस्त-दुरुस्त हैं.

कर्नल बलवान सिंह ने महाराजा रणजीत सिंह आर्म्ड फोर्सेज प्रिपरेटरी इंस्टिट्यूट के विद्यार्थियों के साथ बातचीत की और सर्विसेज सिलेक्शन बोर्ड(एसएसबी) के द्वारा भारतीय सेना में शामिल होने के बारे जानकारी साझा की. इस अवसर पर सेना के जवानों के बहादुरी भरे कारनामों के बारे दिखाईं गईं फिल्में, डॉक्यूमेंटरी फिल्म, ऑडियो-विजुअल प्रस्तुति से क्लेरियन ऑडीटोरियम नौजवान पीढ़ी के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया.

आज सशस्त्रबलों के बारे प्रेरणादायक फिल्म ‘रक्षक-ए-हिंद’ और एक अन्य फिल्म में 1965 की जंग में खेमकरन सेक्टर में पाकिस्तान के टैंकों को तीसरी पलटन द्वारा तबाह किए गए दृश्य को दिखाया गया. वहीं एक अन्य फिल्म ‘हीरोज़ ऑफ डोगरायी-3 जाट’ लाहौर की चौखट पर हुई 1965 की जंग बारे था. जबकि एक फिल्म 1971 की जंग के दौरान नौसेना की भूमिका के बारे में थी.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*