Monday , 17 December 2018
Breaking News

योबिन समुदाय को राज्य सरकार ने दिया एसटी का दर्जा

ईटानगर, 08 दिसम्बर (उदयपुर किरण). अरुणाचल प्रदेश के योबिन समुदाय की लंबित मांग को मानते हुए राज्य सरकार ने समुदाय को अनुसूचित जनजाति(एसटी) का दर्जा देने की मंजूरी दे दी है. मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने चांग्लांग जिले में ‘अरुणाचल राइजिंग’ अभियान के दौरान कहा कि राज्य सरकार ने योबिन समुदाय को एसटी का दर्जा देने के लिए अपनी मंजूरी दे दी है और समुदाय के सदस्यों को एसटी प्रमाण-पत्र जारी कर दिया गया है. उन्होंने इसकी घोषणा शुक्रवार को एक सार्वजनिक कार्यक्रम में की और इस समुदाय के दो लोगों को एसटी का प्रमाण-पत्र भी प्रदान किया.

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि औपचारिक मान्यता के लिए यह मामला केंद्र सरकार के सामने लाया जाएगा. साथ ही, अंतिम मंजूरी के लिए संसद के शीतकालीन सत्र में लाए जाने की संभावना भी जतायी. मुख्यमंत्री ने 1960 के दशक से विजयनगर में रह रहे पूर्व गोरखा सैनिकों और उनके परिजनों को जनवरी,2019 तक पीआरसी जारी करने का भी वादा किया. उन्होंने देश के प्रति उनके योगदान के लिए समुदाय का आभार जताया.

मुख्यमंत्री खांडू ने यह भी कहा कि नाम्साई जिले में रहने वाले छह गैर-एपीएसटी समुदायों को भी पीआरसी जारी करने के मामले पर सरकार विचार कर रही है. उन्होंने कहा कि पर्यावरण और वन मंत्री नबाम रेबिया के नेतृत्व में एक उप-समिति गठित की गई है, जो जल्द ही अपनी रिपोर्ट देगी. उन्होंने कहा कि विजयनगर की प्राकृतिक सुंदरता के कारण इस क्षेत्र में पर्यटन की काफी संभावनाएं हैं. बागवानी और कृषि के क्षेत्र में भी अपार संभावनाएं हैं लेकिन उचित सतह और हवा के प्रवाह के कारण बाधा आ रही है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*