Monday , 17 December 2018
Breaking News

समरसता कुंभ की तैयारियां अंतिम चरण में

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उद्घाटन और राज्यपाल राम नाईक करेंगे समापन
अयोध्या, 08 दिसम्बर (उदयपुर किरण). डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय में समरसता कुम्भ 15 व 16 दिसम्बर को विश्वविद्यालय के नवीन परिसर में उत्तर प्रदेश सरकार एवं डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के संयुक्त आयोजन में होगा. इसकी तैयारियां अंतिम चरण में हैं.
समरसता कुम्भ की तैयारियों पर समितियों एवं पदाधिकारियों की बैठक में शनिवार को प्रभारी मंत्री रमापति शास्त्री ने समरसता कुंभ की तैयारियों पर प्रकाश डाला और कहा कि अवध विश्वविद्यालय के नवीन परिसर में समरसता कुंभ की तैयारियों को देख कर प्रतीत हो रहा है कि वास्तव में कुंभ अयोध्या में ही लगेगा रामनगरी अयोध्या में समरसता कुंभ मात्र आयोजन ही नहीं है, बल्कि पूरे देश में यहां से एक बड़ा संदेश जायेगा. इस मौके पर राज्यमंत्री मंत्री महेंद्र सिंह ने भी तैयारियों पर अपने सुझाव रखे और समरसता कुम्भ के आयोजन पर प्रकाश डाला.
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. मनोज दीक्षित ने समरसता कुंभ कार्यक्रम की पूरी जानकारी देते हुए बताया कि समरसता कुंभ का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे और समापन समारोह में राज्यपाल राम नाईक की गरिमामय उपस्थिति रहेगी. साथ ही कार्यक्रम में कई मंत्रीगण के साथ संतों एवं विद्वानों का समागम होगा. उद्घाटन अवसर पर एक पुस्तक का विमोचन भी किया जाएगा, जिसमें समरसता से संबंधित, अयोध्या की महिमा और महापुरुषों से संबंधित लेख होंगे. पुस्तक सभी प्रतिभागियों को दी जाएगी. कुलपति प्रो. दीक्षित ने समरसता कुंभ से संबंधित महत्वपूर्ण सुझाव भी रखे.
इस समरसता कुम्भ के सफल आयोजन हेतु विभिन्न समितियों के समन्वयकों ने अपनी समितियों के तैयारी की जानकारी दी. प्रो. आर.एल. सिंह कार्यालय संयोजक समिति, प्रो. के.के. वर्मा मीडिया एवं प्रचार समिति, प्रो. जसवंत सिंह समन्वयक भोजन समिति, डॉ. आर.के. सिंह आवास समिति, डॉ. शैलेन्द्र वर्मा यातायात प्रबन्धन समिति, प्रो. एम.पी. सिंह पंडाल संयोजक, डॉ. शैलेन्द्र कुमार चिकित्सा व्यवस्था, प्रदर्शनी एवं साज-व्यवस्था प्रो. विनोद श्रीवास्तव, डॉ. सुधीर श्रीवास्तव जल व्यवस्था, डॉ. विनय मिश्र स्वच्छता समिति, प्रो. आशुतोष सिन्हा सांस्कृतिक कार्यक्रम, डॉ. महेन्द्र पाठक अयोध्या दर्शन एवं पर्यटन ने विस्तृत रूप से कार्य योजना का स्वरूप प्रस्तुत किया.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*